बुरी बातों को नजर अंदाज करने के कारण ही रहाणे के बल्ले से निकले 102 रन

Last Updated: मंगलवार, 27 अगस्त 2019 (14:51 IST)
नार्थ साउंड (एंटीगा)। विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के आगाज के साथ ही भारत ने वेस्टइंडीज पर जो 318 रनों की बड़ी जीत दर्ज की है, उसमें गेंदबाज बुमराह और ईशांत शर्मा के अलावा उपकप्तान अजिंक्य रहाणे की भी बड़ी भूमिका रही है, जिन्होंने अपने बारे में चल रही बुरी बातों को नजर अंदाज किया और सिर्फ खेल पर ही ध्यान केंद्रित किया। नतीजा सबके सामने है कि मैं शतक लगाने में सफल रहा।

रहाणे ने कहा कि मैंने पिछले 2 सालों से कोई भी शतक नहीं लगाया था। चारों तरफ से मुझे ताने मिल रहे थे। मैंने इन तानों पर ध्यान देने के बजाए सिर्फ अपने खेल को सुधारने की कोशिश की
ALSO READ:
वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में मिली जीत बहुत खास है : अजिंक्य रहाणे

रहाणे के अनुसार मुझे यह स्वीकार करने में कोई गुरेज नहीं है कि लंबे वक्त से मैं खराब फॉर्म से जूझ रहा था लेकिन वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में जब 81 रन ठोंके तभी लगा कि मैं सही दिशा में आगे बढ़ रहा हूं। यही कारण है कि दूसरी पारी में मेरे बल्ले से शतक निकला और टीम को 318 रनों से बड़ी जीत हासिल हुई।

रहाणे ने बीसीसीआई़ टीवी पर मुंबई के अपने साथी रोहित शर्मा से कहा, ‘मैं कोशिश करता हूं कि मैं आलोचनाओं पर ध्यान नहीं दूं। ये अवांछित चीजें हैं जिन पर मेरा नियंत्रण नहीं हे। जब आप शतक लगाते हो आपको हमेशा खुशी होती है।’

ALSO READ:
विदेशी जमीन पर टीम इंडिया की सबसे बड़ी जीत, पहले टेस्ट में वेस्टइंडीज को 318 रनों से हराया

उन्होंने कहा, ‘मैं अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हूं क्योंकि मुझे शुरुआत में काफी मेहनत करनी पड़ी। शतक लगाने से पहले टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाना जरूरी था।’ भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा टेस्ट मैच शुक्रवार से जमैका में खेला जाएगा।

 

और भी पढ़ें :