श्री कृष्ण को हरसिंगार, कृष्णकमल और अपराजिता सहित कौन से 10 फूल हैं पसंद

Last Updated: शुक्रवार, 19 अगस्त 2022 (19:21 IST)
हमें फॉलो करें
: आज श्रीकृष्‍ण जन्माष्टमी का पर्व पूरे विश्‍व में मनाया जा रहा है। कृष्‍ण जन्माष्टमी के दिन मंदिरों में श्रीकृष्‍ण का श्रृंगार किया जाता है जिसमें उनकी पसंद के फूलों से झूला और मंदिर को सजाया जाता है। आओ जानते हैं कि श्रीकृष्‍ण कौनसे फूल पसंद हैं और कौनसे फूलों की वे माला पहनते हैं।

1. कृष्णकमल : इसे राखी का फूल भी कहते हैं। इस फूल को घर में लगाने से जीवन में शांति, सुख, समृद्धि, उन्नति और सभी तरह के योग बनते हैं। इसे बहुत ही शुभ माना जाता है।

2. हरसिंगार : पारिजात के फूलों को हरसिंगार और शैफालिका भी कहा जाता है। यह फूल जिसके भी घर-आंगन में खिलते हैं, वहां हमेशा शांति और समृद्धि का निवास होता है।

3. कुमुदिनी : कुमुदिनी के पत्र-पुष्प जल की सतह पर ही तैरते रहते हैं। श्रीकृष्‍ण को यह प्रिय है।
4. वैजयंती : श्रीकृष्ण वैजयंती के फूलों की माला धारण करते हैं। वैजयंती फूलों का बहुत ही सौभाग्यशाली वृक्ष होता है।

5. मालती : मधुमालती की बेल होती है। इसके फूल बहुत ही सुगंधित होते हैं। इसकी भीनी-भीनी महक से तन और मन को ठंडक का अहसास होता है।

6. पलाश : इसे टेसू के फूल भी कहते हैं। यह होली के आसपास खिलते हैं।

7. वनमाला : श्रीकृष्ण को वनमाला के फूल भी पसंद हैं।

8. चणक : इस फूल का भी उल्लेख मिलता है जो श्रीकृष्‍ण को प्रिय है।

9. चंपा : चंपा के खूबसूरत, मंद, सुगंधित हल्के सफेद, पीले फूल अक्सर पूजा में उपयोग किए जाते हैं।

10. रजनीगंधा : रजनीगंधा का पौधा पूरे भारत में पाया जाता है।

इसके अलावा गुलाब, सदाफूली, अमलतास, बेला, गेंदा, मोगरा आदि।



और भी पढ़ें :