जानिए इंटरनेट से जुड़े ये रोचक तथ्य

के प्रसार से नई समस्याएं पैदा होंगी-

प्राइवेसी पर मंडराया खतरा : इंटरनेट से अगर हर चीज जुड़ जाएगी तो आपकी निजी जिंदगी पर भी प्राइवेसी भंग होने का खतरा बढ़ जाएगा। हैकर्स के पास आपका नेटवर्क हैक करने के ज्यादा माध्यम होंगे क्योंकि आपका पूरा घर ही इंटरनेट पर होगा।

पिछड़ने का डर : तकनीक इतनी तेजी से बढ़ेगी कि हो सकता है हम उसके साथ न चल पाएं और आने वाले नतीजों का अनुमान न लगा पाएं। इंटरनेट पर निर्भरता बढ़ेगी तो हम दिमाग पर जोर देना कम कर देंगे जिससे दिमागी विकास कम होने का खतरा भी है।
भावनाओं पर असर : भले ही हम इंटरनेट से ज्यादा लोगों से जुड़ पाएंगे लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि यह जुड़ाव भावनात्मक कम होगा। हो सकता है कि हमें लोगों से ज्यादा अपने गैजेट्स से प्यार हो जाए जिससे अकेलापन बढ़ सकता है।

ध्वस्त होने की आशंका : इंटरनेट के बढ़ते उपयोग के बीच यह आशंका भी जताई जा चुकी है कि आठ साल बाद यह उपयोग इतना बढ़ जाएगा कि हो सकता है इंटरनेट ध्वस्त हो जाए क्योंकि हो सकता है कि समुद्र में बिछाई गई मौजूदा केबल्स इतने डाटा का भार न सह पाएं।
धरती के बाहर इंटरनेट : लेकिन इसके साथ ही इंटरनेट को अब धरती से बाहर और अन्य ग्रहों तक पहुंचाने की कोशिश हो रही है जिससे स्पेस साइंस को फायदा होगा। ग्रहों के बीच इंटरनेट नेटवर्क स्थापित करने की दिशा में लंबे समय से काम हो रहा है और इसे इंटप्लेनेटरी इंटरनेट नाम दिया गया है।



और भी पढ़ें :