Google I/O 2021: नए फीचर्स और प्राइवेसी अपडेट के साथ Android 12 का ऐलान, जानें डिटेल

Last Updated: बुधवार, 19 मई 2021 (18:29 IST)
features: ने अपने नेक्स्ट जनरेशन मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड 12 का ऐलान किया है। इसमें नए फीचर्स के साथ यूजर्स को ज्यादा कंट्रोल और प्राइवेसी अपडेट मिलते हैं। एंड्रॉयड 12 में बदला हुई वर्चुअल डिजाइन लैंगवेज है, जो इसे एंड्रॉयड 5.0 लॉलीपॉप के बाद मोबाइल सिस्टम इंटरफेस में सबसे बड़ा बदलाव बनाती है।
गूगल ने निजता तय करने की नई व्यवस्था के साथ ही आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस टूल और एंड्रायड 12 का पहला बीटा वर्जन जारी करने सहित कई नयी सुविधाओं की घोषणा की है। एंड्रायड 12 इस साल गूगल के उत्पादों में शामिल हो जाएगा।

गूगल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) सुंदर पिचाई ने
पिचाई और गूगल के दूसरे अधिकारियों ने इस पूरे साल अलग-अलग उत्पादों के लिहाज से जारी किए जाने वाले टूल और सुविधाओं के लिए रूपरेखा तैयार किया है। इन उत्पादों में सर्च, लेंस, फोटो, मैप और शॉपिंग सहित अन्य चीजें शामिल हैं।
नई नीतियों की घोषणा : कैलिफोर्निया के माउंटेन व्यू परिसर से गूगल के कार्यस्थलों को लेकर नई नीतियों की भी घोषणा की। इसके तहत खासतौर पर दुनिया भर में कार्यालयों से दूर रहकर काम करने की व्यवस्था अपनाने की मजबूरी को देखते हुए गूगल को बेहतर सहयोग करने में मदद मिलेगी।

भारत को लेकर पिचाई ने जताई चिंता : पिचाई ने कहा कि कोविड-19 ने हर समुदाय को बुरी तरह से प्रभावित किया है और ब्राजील और मेरा गृह देश भारत इस समय अपने सबसे मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं।
पिचाई ने कहा कि गूगल ने इस दौर से उबरने में एक-दूसरे की मदद करने के लिए उत्पाद जारी किए हैं और पहल शुरू की हैं ताकि इनसे छात्रों और शिक्षकों को पठन-पाठन जारी रखने में मदद मिले, छोटी व्यापार इकाइयों को समय के साथ ढलने एवं प्रगति करने में मदद मिले और जरूरतमंद समुदायों को आपात राहत एवं टीके हासिल करने में आसानी हो।

प्राइवेसी के लिए नया ऑप्शन : बेहतर प्राइवेसी के लिए गूगल एक नया ‘क्विक डिलीट’ ऑप्शन ला रही है जिससे गूगल खाता मेन्यू में एक टैप के साथ पिछले 15 मिनट की सर्च हिस्ट्री (गूगल पर सर्च का इतिहास) हट जाएगी। कंपनी मैप्स टाइमलाइन में लोकेशन हिस्ट्री (जगह की जानकारी का इतिहास) रिमाइंडर भी पेश कर रही है।
गूगल एंड्रायड का पहली बीटा संस्करण भी जारी कर रही है जिसके साथ 2014 के बाद से एंड्रायड के डिजाइन में सबसे बड़ा बदलाव होगा। नवीनतम संस्करण में ऐसी सुविधाएं होंगी जो ज्यादा पारदर्शिता के साथ बताएंगी कि कौन से ऐप यूजर्स के डेटा हासिल कर रहे हैं। इससे यूजर्स को ज्यादा कंट्रोल की सुविधा मिलेगी और वे बेहतर फैसला कर सकेंगे।
मल्टी डिवाइस : IoT डिवाइस के लोकप्रिय होने के साथ, एंड्रॉयड 12 की मदद से इन स्मार्ट डिवाइसेज के लिए सेंट्रल हब के तौर पर काम करेगा। एंड्रॉयड ऑटो और डिजिटल कार की के जरिए यूजर्स कार से कनेक्ट कर सकते हैं और इसे अपने फोन पर NFC का इस्तेमाल करके अनलॉक कर सकेंगे।
मैटिरियल यू : गूगल की नई डिजाइन लैंग्वेज को मैटिरियल यू कहा गया है। इसमें फोन का डिजाइन यूजर की प्राथमिकता के मुताबिक बदला जा सकता है। नई लैंग्वेज के साथ, कोई भी ऐप, जो गूगल से नहीं भी हैं, वे अपने डिजाइन के साथ बदल और नए विजुअल के जुड़े रह सकते हैं। इसमें यूजर्स केवल लाइट और डार्क के अलावा दूसरी भी थीम को चुन सकते हैं। प्लेटफॉर्म पर नया लॉकस्क्रीन, विजेट्स और नए कलर मिलेंगे। नया फीचर कलर एक्सट्रेक्शन मिलेगा, इसकी सहायता से यूजर्स उनके द्वारा सेट वॉलपेपर के आधार पर थीम कलर चुन सकेंगे।
भविष्य में जुड़ेंगे ये फीचर्स : गूगल ने कुछ दूसरे फीचर्स का भी एलान किया है, जो भविष्य में एंड्रॉयड 12 में ऐड किए जाएंगे। अभी के लिए, एंड्रॉयड 12 के लिए पहला पब्लिक बीटा कई डिवाइसेज के लिए उपलब्ध होगा जिनमें Pixel फोन्स के साथ कई ब्रांड्स के डिवाइस के फोन शामिल हैं, जिनमें वन प्लस, शिओमी, वीवो आदि शामिल हैं।



और भी पढ़ें :