कोरोना निगेटिव खिलाड़ी को टीम में शामिल करने में RCB ने तोड़ा यह नियम, दूसरी फ्रैंचाइजी हुई खफा

पुनः संशोधित मंगलवार, 13 अप्रैल 2021 (13:22 IST)
सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडिकल के होम क्वारंटीन में रह कर कोरोना से ठीक होने के बाद गत सात अप्रैल को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के बायो बबल में सीधे प्रवेश को लेकर अन्य आईपीएल टीमों ने नाराजगी जाहिर की है।
टीमों ने पडिकल के सात दिन के अनिवार्य क्वारंटीन में रहे बिना अपनी टीम के बायो बबल में जाने पर उंगली उठाई है।अन्य फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने कहा, “ अगर होम क्वारंटीन की अनुमति है तो हमारी टीम के कई सदस्यों को भी इसका लाभ दिया जाना चाहिए। ” हालांकि आरसीबी प्रबंधन का दावा है कि सभी प्रोटोकॉल्स का पालन करते हुए ही पडिकल बायो बबल में आए हैं।
आरसीबी के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा कि पडिकल के पास कोरोना टेस्ट की तीन नेगेटिव रिपोर्टें थीं और हमने बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड) के सभी नियमों का पालन किया है। वहीं इस पर टीम प्रबंधन की ओर से भी एक बयान आया था, जिसमें कहा गया था, “हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि बाएं हाथ के बल्लेबाज देवदत्त पडिकल बीसीसीआई के आईपीएल प्रोटोकॉल्स के मुताबिक कोरोना नेगेटिव आने के बाद सात अप्रैल को टीम में शामिल हो गए हैं। आरसीबी की मेडिकल टीम पडिकल की सुरक्षा और स्वस्थ होना सुनिश्चित करने के लिए लगातार उनके संपर्क में थी। ”
उल्लेखनीय है कि आरसीबी ने पडिकल के गत 22 मार्च को कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि की थी और तब वह होम क्वांरटीन में चले गए थे। देवदत्त पडिक्कल 22 मार्च 2021 को कोविड-19 के जांच में पॉजीटिव पाए गए थे। उसके बाद से वह बेंगलुरु स्थित अपने घर में पृथकवास पर रहे थे। आईपीएल प्रोटोकॉल के अनुसार आरटी-पीसीआर परीक्षण में नेगेटिव होने पर वह आरसीबी के बायो-बबल में शामिल हो गए थे।
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के आस्ट्रेलियाई आलराउंडर डेनियल सैम्स 9 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इस ही तारीख को खतरनाक वायरस से उबरने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोरटीम के जैविक रूप से सुरक्षित माहौल से जुड़ गए थे। हालांकि मुंबई इंडियन्स से हुए मैच में वह अंतिम ग्यारह का हिस्सा नहीं थे उनकी जगह पाटीदार को खिलाया गया था। वह टीम का हिस्सा कब बन पाएंगे इसका निर्णय टीम मैनेजमेंट लेगी।
पड्डिकल पिछले सत्र में 15 मैचों में 473 रन के साथ आरसीबी के शीर्ष स्कोरर थे। वह घरेलू क्रिकेट में भी शानदार फॉर्म में रहे। वह आईपीएल के इतिहास में सिर्फ दूसरे अनकैप्ड (जिसने कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला हो) खिलाड़ी हैं जिसने अपने पदार्पण सत्र में 400 से अधिक रन बनाए।



और भी पढ़ें :