अमेरिका और चीन के बीच Trade deal, ट्रंप ने बताया इसे ऐतिहासिक

Last Updated: गुरुवार, 16 जनवरी 2020 (08:49 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका ने बुधवार को के साथ पहले चरण के व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किए। अमेरिकी राष्ट्रपति ने इसे ऐतिहासिक बताया है।
करीब 1 साल की बातचीत और महीनों तक वार्ता बंद रखने के बाद अंतत: दुनिया की 2 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं ने अपने युद्ध व्यापार से आगे बढ़कर समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं।
पहले चरण के समझौते में बौद्धिक संपदा संरक्षा और प्रवर्तन, जबरन प्रौद्योगिकी हस्तांतरण को खत्म करना, अमेरिकी कृषि के अभूतपूर्व विस्तार, अमेरिकी वित्तीय सेवाओं से अवरोध हटाना, मुद्रा के साथ छेड़छाड़ (जैसे अवमूल्यन आदि) खत्म करना, अमेरिका-चीन व्यापार संबंधों को पुन:संतुलित करना और समस्याओं का प्रभावी समाधान निकालना शामिल है। इस समझौते पर राष्ट्रपति ट्रंप और चीन के उपप्रधानमंत्री लियू हे ने हस्ताक्षर किए।
अमेरिकी शेयर बाजार में बहार : अमेरिका और चीन के बीच व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर के बाद अमेरिका के शेयर सूचकांक डॉव जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज और एसएंडपी 500 ने रिकॉर्ड बनाया। डॉव जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज 0.3 प्रतिशत की बढ़त के साथ 29,030.22 और एसएंडपी 500 भी 0.2 प्रतिशत की बढ़त के साथ 3,289.30 पर बंद हुआ। वहीं नैस्डैक कॉम्पोसिट 0.1 प्रतिशत चढ़कर 9.258.70 पर बंद हुआ।

विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®
 

और भी पढ़ें :