हरियाली तीज का त्योहार अधूरा है इन 6 पकवानों के बिना, पढ़ें आसान रेसिपीज


पर आप घर में बहुत से तरह-तरह पकवान बना सकते हैं। इस दिन खास तौर पर घेवर, खीर, पूरी, हलवा, दाल बाटी, चूरमा, गुजिया, काजू बर्फी, जैसे मिष्ठान बनाएं जाते हैं। आइए जानें इस खास त्योहार पर बनाई जाने वाली विविध व्यंजन की विधियां :-

पारंपरिक व्यंजन- घेवर

सामग्री :

डेढ़ कटोरी मैदा, 2 कप पानी, डेढ़ बड़ा चम्मच जमा गाढ़ा घी, डेढ़ कप बर्फ का ठंडा पानी, घी, सवा 2 कटोरी शकर, गुलाब पत्ती, चुटकी भर पीला रंग, कटे हुए पिस्ता व बादाम, 1 मटका रखने वाली रिंग।

विधि :

सबसे पहले जमा हुआ गाढ़ा घी लेकर एक बर्तन में बर्फ के ठंडे पानी के साथ खूब फेंटिए। करीबन 5-10 मिनट बाद घी में से पानी बाहर निकल जाता है। अब पानी निथारकर इसमें थोड़ा-थोड़ा कर मैदा मिलाकर फेंटिए।

जब भजिए से भी पतला घोल तैयार हो जाए, तब छोटी कड़ाही में मटका रखने वाली रिंग रखें। इसमें घी डालकर गर्म करें। जब घी अच्छी तरह गर्म हो जाए, तब रिंग के बीच में धीरे-धीरे धार-सी बनाते हुए मैदे का घोल छोड़ें। रिंग करीब आधा डूबा होना चाहिए।

हल्का बादामी होने लगे, तब सलाई की सहायता से उठा लीजिए। घेवर पर 3-4 बार डेढ़ तार की गर्म चाशनी डालें और तैयार घेवर को मेवे से सजाकर पेश करें।

*********

लाजवाब केसरिया भात

सामग्री :

1 कटोरी बासमती चावल, डेढ़ कटोरी शकर, इलायची पावडर आधा चम्मच, 5-7 केसर के लच्छे, मीठा पीला रंग चुटकी भर या आधा चम्मच हल्दी, 15-20 किशमिश (गुनगुने पानी में भीगे हुए), 1 चम्मच घी, 2-3 लौंग, मेवे की कतरन (पाव कटोरी)।

विधि :

चावल बनाने के पूर्व 1 घंटे तक गलाकर रखें। अब एक बड़े मर्तबान में पानी उबाल लें। उसमें हल्दी डालें और चावल पकाकर थाली में ठंडा होने के लिए रख दें। दूसरी ओर एक से डेढ़ तार की चाशनी तैयार कर लें। उसमें पके चावल डालकर कुछ देर चलाएं।

अब इलायची एवं मीठा रंग मिलाएं। एक पैन या कड़छी में अलग से घी गर्म करके उसमें लौंग डालें और ऊपर से चावल पर बुरकाएं, साथ ही मेवे की कतरन और भीगे हुए किशमिश भी डालें और मिलाकर ठंडा या गर्म जैसे चाहे लजीज शाही पेश करें।

*********

रवे के स्वादिष्‍ट लड्‍डू

सामग्री :

500 ग्राम सूजी (रवा), 500 ग्राम घी, 400 ग्राम शक्कर का बूरा, 20-25 किशमिश, इलायची पावडर एवं गुनगुना पानी।

विधि :

सबसे पहले सूजी को छानकर उसमें 2-3 बड़े चम्मच गरम घी का मोयन डालकर अच्छी तरह मिला लें। अब सूजी को गुनगुने पानी से कड़ा गूंध लें। एक कड़ाही में घी गरम रखें और आटे के बड़े-बड़े मुठिए बनाकर धीमी आंच पर तल लें।

अब तले मुठिए को हाथ से बारीक मसलकर उसका रवा तैयार करके बारीक चलनी से छान लें। जब सारे मुठिए का जब रवा तैयार हो जाए तब उसे थोड़ी देर ठंडा होने के लिए रख दें। अब उसमें शक्कर का बूरा, इलायची पावडर डालकर मिश्रण को एकसार कर लें।

अब अगर जरूरत हो तो और घी मिलाती जाएं, ताकि लड्‍डू आसानी से बन सकें। लड्‍डू बनाने के बाद ऊपर से एक-एक किशमिश चिपका दें। लीजिए तैयार है रवे के लाजवाब लड्‍डू।

*********

मलाई खाजा

सामग्री :

डेढ़ कटोरी मैदा, 1/2 कटोरी मलाई, 2 कटोरी शक्कर, 1/2 छोटी चम्मच पिसी इलायची, आधा कटोरी बादाम एवं पिस्ता, 1-2 चुटकी नमक, अलग से मोयन के लिए गरम किया हुआ 1/2 कटोरी घी, तलने के लिए घी, चांदी का वर्क।

विधि :

पहले मैदे को छान लें। उसमें मोयन वाला घी और नमक मिलाकर मिक्स कर लें और मलाई की सहायता से पूरी के आटे की तरह गूंध लें। फिर 15-20 मिनट सूती कपड़े से ढंक कर रख दें। अब शक्कर डूब जाए इतना पानी डालकर डेढ़ तार की चाशनी तैयार करें। तत्पश्चात आटे की छोटी-छोटी लोइयां बनाकर हाथ के अंगूठे से बीच में थोड़ा-सा दबाकर तैयार करके रख लें या फिर बड़े आकार की रोटी बेल कर उन्हें तिरछे समोसे के आकार में काट लें।

एक कड़ाही में घी गरम करके मध्यम आंच पर तलें, ध्यान रखें कि खाजे की सिकाई अच्छी तरह से हो। अब इन्हें चाशनी में डुबोकर निकाल लें। ऊपर से बादाम-पिस्ता बुराका कर चांदी के वर्क से सजाएं और पेश करें।

*********

काजू कतली

सामग्री :


1 कप काजू (पिसा हुआ), 5-6 बड़े चम्मच शुगर फ्री, 4-5 केसर के लच्छे, पानी आवश्यकतानुसार, आधा चम्मच इलायची पाउडर और चांदी का वर्क।

विधि :

सबसे पहले एक कड़ाही में पानी, शुगर फ्री और केसर डालें। पानी में शुगर फ्री पूरी तरह से घुलने तक चलाएं। अब उसमें इलायची पाउडर डालें। मिश्रण गाढ़ा होने पर थोड़ा-थोड़ा करके पिसा काजू डालें, लगातार चलाती रहें ताकि गुठलियां ना पड़ें, अच्छी तरह मिलाकर धीमी आंच पर पकाएं।

अब तैयार मिश्रण को ठंडा करने के लिए रख दें। मिश्रण ठंडा हो जाने पर एक थाली में घी का हाथ घुमाएं और तैयार मिश्रण को पूरी तरह एक जैसा
फैला दें। अब ऊपर से चांदी का वर्क लगाएं और अपनी पसंदानुसार चाकू की सहायता से काजू कतली के काट लें।

घर पर आसान तरीके से तैयार की गई काजू क‍तली का भगवान को भोग लगाकर सर्व करें।

*********

जायकेदार दाल-बाटी

सामग्री :


1 किलो गेहूं का दरदरा आटा, 1 किलो शुद्ध देशी घी, 1 चम्मच जीरा, 1 चम्मच अजवाइन, 1 चम्मच सौंप, आधी कटोरी दही, नमक आवश्यकतानुसार।

विधि :


आटे में जीरा, अजवाइन, सौंप, दही, नमक व दो बड़े चम्मच घी खूब अच्छी तरह मिक्स कर लें और गुनगुने पानी से कड़ा गूंथ लें।

लड्डू के आकार की तरह गोल-गोल बना लें। सेंकने के लिए रख दें। सिंकने पर बाटी को हल्के हाथ से फोड़कर पिघलते घी में डालती जाएं। बाटी तैयार है। इसे गरमा-गरम दाल और हरी चटनी के साथ खाएं और खिलाएं।

*********


 

और भी पढ़ें :