Lockdown के दौरान एकांत में सुनें इन गज़लों को, होगा सुकून का एहसास

नेहा रेड्डी|
कहते हैं कि अगर मन को शांत करना हो या सुकून चाहिए तो संगीत का रुख करना सबसे बेहतर है। संगीत एक ऐसी दवा है, जो शांति और सूकून का एहसास करवाती है। देश में के बीच हम सुबह से लेकर शाम तक कोरोना से संबधित खबरें मन को कहीं-न-कहीं विचलित जरूर करती हैं। अगर आप भी चाहते हैं अपने मन को शांत रखना और बेहतर महसूस करना तो इन गज़लों को आप जरूर सुनिएगा...
1. होश वालों को खबर क्या...निदा फाजली

2. आज जाने की जिद न करो...
फय्याज हाशमी

3. तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हों...कैफी आजमी

4. जिंदगी धूप तुम घना साया... जावेद अख्तर

5. मेरा कुछ सामान तुम्हारे पास पड़ा है...गुलजार

6. हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि हर ख़्वाहिश पे दम निकले... मिर्जा गालिब

7. चुपके-चुपके रात-दिन आंसू बहाना याद है...हसरत मोहानी
8. कभी किसी को मुकम्मल जहां नहीं मिलता...निदा फाजली

9. होंठों से छू लो तुम...इंदीवर

10. झुकी-झुकी सी नजर... कैफी आजमी



और भी पढ़ें :