गजब का चुटकुला : बीवी से झगड़े के फायदे पढ़कर पेट पकड़ कर हंसेंगे


आज तक किसी ने भी आपको बीवी से झगड़े के फायदे नहीं बताए होंगे

कोई बताए भी क्यों...?
सीधी बात है कि कोई अपने सुख को दूसरे किसी से भला क्यों बांटने लगेगा...??

*लेकिन आज हम आपको बता कर ही रहेंगे कि पत्नी से झगड़ा करने में कितना फायदा है...?*

*तो देर मत करें और जानिए कितने फायदे का सौदा है ये*

*1. नींद में कोई व्यवधान नहीं आता*
सुन रहे हो क्या, लाइट बंद करो, पंखा बंद करो, चादर इधर दो, इधर देखो टाइप कुछ भी बातें नहीं होती।

*2. पैसे की बचत*
जब बीवी से झगड़ा हुआ रहता है इस दौरान बीवी पैसे नहीं मांगती।
*3. तनाव से मुक्ति*
झगड़े के दैरान बातचीत बंद होती है। जिससे किचकिच कम होती है और पति तनाव से मुक्त रहता है।

*4.आत्मनिर्भरता आती है*
जो अपना काम आप कर सकते हैं वो इसलिए नहीं करते कि बीवी कर देती है। झगड़े के बाद वो छोटे मोटे काम (खुद ले कर पानी पीना, नहाने के बाद अपने कपड़े खुद निकालना, अपने लिए खुद चाय बनाना) खुद कर के आदमी आत्मनिर्भर हो जाता है।
*5. फ़ालतू कॉल नहीं आते
झगडे के दौरान काम के समय आपको बीवी के फ़ालतू कॉल नहीं आते। जिससे आप अपने काम में ध्यान केंद्रित कर सकते है।

*6. घर जल्दी जाने की चिंता से मुक्ति*
अधिकांश पतियों को काम के बाद जल्दी घर आने के लिए घर से बार बार फ़ोन आते हैं। मगर एक बार झगड़ा हो जाने के बाद आप कुछ दिन तक इस चिंता से दूर रह सकते हैं।

*7. आप का मूल्य बढ़ता है*
ये इंसान का मनोविज्ञान है कि जो चीज नहीं होती उसके मूल्य का अहसास तभी होता है। झगड़े के दौरान बीवी को आपकी मूल्य का अहसास होता है।
*8. प्यार बढ़ता है*
आपस में झगडे से प्यार बढ़ता है। क्योकि अक्सर देखा गया है एक बार बारिश हो जाए तो मौसम सुहाना हो जाता है।

और भी फायदे हैं ==

मगर समयाभाव के कारण लिखना मुश्किल है। तो आइए प्रण लें कि आज के बाद सभी पति महीने में एक न एक बार अपनी बीवी से झगड़ा जरूर करेंगे...(बीवी तो हमेशा तैयार रहती है)

*विशेष : झगडा अपनी रिस्क पर व अपनी सामर्थ्य के अनुसार करें। इसके साइड इफेक्ट्स की कोई जिम्मेदारी लेखक की नहीं होगी।


और भी पढ़ें :