गुरुवार, 9 फ़रवरी 2023
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. सेहत
  3. हेल्थ टिप्स
  4. lockdown has improved these 10 bad habits
Written By
Last Updated: गुरुवार, 24 मार्च 2022 (15:02 IST)

लॉकडाउन ने सुधारी हैं ये 10 गलत आदतें

लॉकडाउन का नाम सुनते ही वह विचित्र समय फिर से आंखों के सामने आ जाता है। पूरी दुनिया एक साथ किस तरह कुछ वक्त के लिए कैद हो गई थी। कोविड की वजह से लगे लॉकडाउन के दौरान बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखें। लेकिन कई लोगों ने इस बुरे वक्त का भी फायदा उठाया और अपने जीवन में कई सारे बदलाव किए। 2 साल पहले 24 मार्च को लॉकडाउन लगाया गया था। आइए जानते हैं लॉकडाउन ने ऐसी कौन सी 10 गलत आदतें हैं जो सुधारी -

1. हाथ धोकर खाना - जी हां, अक्सर लोग बिना हाथ धोएं ही खाना खा लिया करते थे। लेकिन लॉकडाउन के बाद से यह आदत बन गई।

2. हेल्थ फ्रिकनेस - कोविड-19 के दौरान जिस तरह से मामले बढ़े उससे समझ आ गया था कि अब बहुत जल्दी घर से बाहर नहीं निकलने वाले हैं। ऐसे में घर पर ही फूड आयटम बनाकर खाने लगें।

3. एक्सरसाइज और  योग के प्रति बढ़ा रूझान - पहले कुछ भी खाते थे लेकिन लॉकडाउन के दौरान अपनी सेहत को लेकर पहले से काफी सजग हो गए। बच्चों से लेकर बूढ़ों तक में योग और एक्सरसाइज की आदत डल गई।

4. देर रात तक जागना - जी हां, अक्सर लोगों की आदत रही है। देर रात तकजागने की। लेकिन यह ऐसा वक्त था जब लाइफस्टाइल में बदलाव जरूरी था। और उसमें से एक था सोने की आदत में बदलाव। जी हां, सभी डॉक्टर द्वारा यह समझाया गया कि कम से कम 8 से 9 घंटे सोना जरूरी है।

5 पैसे को पानी की तरह बहाना - अक्सर देखा गया लोग पैसा अधिक होने पर पानी की तरह बहाते हैं। लेकिन इस वजह से यह समझ आ गया कि जरूरत के मुाताबिक पैसों को खर्च करना चाहिए और साथ ही सेविंग करना भी जरूरी है।

6. स्मोकिंग और डिंकिंग की आदत - लॉकडाउन के वक्त पर सभी को अपने परिवार के साथ रहना था। कोई विकल्प भी नहीं था कि घर से बाहर जा सकें। ऐसे कई लोगांे की स्मोकिंग और डिकिंग की आदत पर काफी असर पड़ा। इससे उनके फेफड़ों में भी सुधार देखा गया।

7. वर्क मैनेजमेंट - अक्सर यह शिकायत रहती थी कि अपने काम और परिवार को कैसे समय दें। उन दोनों के बीच कैसे तालमेल बिठाएं। ऐसे में कई लोगों से जब जाना तो कहा वक्त पर अपना काम करने बैठें और वक्त तक उसे खत्म कर दें।

8. इम्यून सिस्टम के बारे में जाना - शायद ही कोई जानता होगा कि इम्युन सिस्टम क्या होता है। लेकिन वह अगर कमजोर हो जाए तो आप जल्दी किसी भी बीमारी की चपेट में आ सकते हो।

9. मोबाइल से दूरी  - जी हां, लॉकडाउन में मोबाइल का प्रयोग धड़ल्ले से किया गया। लेकिन जिन्होंने वक्त का फायदा उठाया उन्होंने अपना अधिक से अधिक समय किसी न किसी कार्य को सीखने में बिताया।

10. टाइम पास नहीं करें - जी हां, वक्त बहुत किमती होता है और यह लॉकडाउन में जरूर सीखा है। जिन्होंने टाइम पास किया उनके लॉकडाउन बहुत भारी  नजर आ रहा था। लेकिन जिन्होंने समय का सद्ोपयोग किया उन्हें ये वक्त भी कम पड़ रहा था।