क्या पालतू जानवरों से है कोरोना संक्रमण का खतरा, क्या कहते हैं Expert?

नेहा रेड्डी|
का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। देश में अब तक कोरोनावायरस के 2,83,407 एक्टिव मामले हैं, वहीं इस संक्रमण से निजात पाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं ताकि इस वायरस से जल्द से जल्द राहत मिल सके। इसी के साथ कोविड-19 से बचाव के लिए मास्क, व्यक्तिगत हाइजीन, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बेहद जरूरी है, वहीं कोरोना संक्रमण को लेकर तमाम सवाल जेहन में आते हैं।
उन्हीं में से एक सवाल यह है कि क्या पालतू जानवरों से कोरोना संक्रमण का खतरा होता है? इसे लेकर लोगों के मन में डर बैठ गया कि क्या वाकई कोरोनावायरस पालतू पशुओं में भी हो सकता है? इसी के साथ डब्ल्यूएचओ ने भी कहा है कि जब तक कोरोनावायरस का संक्रमण दुनियाभर में जारी है, तब तक अपने पालतू जानवर को किस करने, उन्हें गोद में लेने या उनके साथ खाने से बचा जाना चाहिए।

इसी के साथ आइए जानते हैं एक्सपर्ट एड्वाइस...
डॉक्टर शांतुन गौतम (BAMS) बताते हैं कि पालतू पशुओं में अभी तक देखा जाए तो कोरोना पॉजिटिव केस सामने नहीं आए हैं लेकिन सावधानी और समझदारी के साथ कदम बढ़ाने की जरूरत है। यदि आपके घर में पालतू जानवर हैं तो आपको कुछ बातों का ख्याल रखना जरूरी है।
घर में पालतू जानवर है तो जाहिर-सी बात है कि आप उन्हें बाहर घुमाने भी ले ही जाते होंगे। लेकिन कोरोना काल में आप कुछ विशेष बातों का ध्यान रखें, जैसे जब आप अपने पेट्स को बाहर घुमाने ले जाएं तो पेट्स मास्क का इस्तेमाल करें। इसके बाद ही उन्हें बाहर ले जाएं।

यदि आप पेट्स मास्क का इस्तेमाल करते हैं, तो आपका डॉगी ऐसी चीजों के संपर्क में आने से बच जाएगा, जो उसे बीमार कर सकती हैं। इससे संक्रमण का खतरा भी कम हो जाएगा, क्योंकि ऐसे कई लोग हैं, जो इस्तेमाल किए हुए मास्क या ग्लव्स सड़कों पर यूं ही फेक देते हैं। यदि आपका डॉगी इसे सूंघता या चाटता है तो इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।
वहीं जब आप अपने पेट्स को छुएं तो हाथ जरूर धोएं। उन्हें खाना देने या छूने के बाद हाथ को साबुन से अच्छी तरह से वॉश करें तथा इसके बाद ही अन्य काम करें।

जब आप अपने पेट्स को बाहर से घुमाकर घर पर वापस लाएं तो हल्के गुनगुने पानी से उनके पैरों को अच्छी तरह साफ कर लें। इसके साथ ही मुंह को हल्के गुनगुने पानी से साफ करें। कोरोना काल के दौरान सिर्फ सावधानी ही आपको इस संक्रमण के संपर्क में आने से बचा सकती है।



और भी पढ़ें :