1991 में वानखेड़े की पिच खोदने वाले एमएनएस नेता शिवसेना में शामिल

मुंबई| पुनः संशोधित मंगलवार, 19 जून 2018 (23:39 IST)
मुंबई। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) नेता शिशिर शिंदे शिवसेना में शामिल हो गए और पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने उनका पार्टी में वापसी पर स्वागत किया। शिवसेना के साथ अपना सियासी सफर शुरू करने वाले शिंदे ने पिछले महीने एक विवाह समारोह के दौरान ठाकरे से मुलाकात की थी जिसके बाद उनके पाला बदलने की अटकलें लगने लगी थीं।
शिंदे के पास पिछले करीब एक साल से में कोई पद नहीं था और राज ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी के पदाधिकारियों की कल घोषित की गई सूची में भी उनका नाम नहीं था। शिंदे 1991 में तब सुर्खियों में आए थे जब वे और शिवसैनिकों के एक समूह ने कथित तौर पर भारत और पाकिस्तान के बीच एक क्रिकेट मैच को बाधित करने के लिए वानखेड़े स्टेडियम में तोड़फोड़ की थी।


शिंदे शिवसेना के टिकट पर 1992 में उपनगरीय मुलुंड से पार्षद चुने गए और बाद में उन्हें बीएमसी में पार्टी का उपनेता बनाया गया। पार्टी ने उन्हें 1996 में विधान पार्षद बनाया लेकिन राज ठाकरे ने जब पार्टी छोड़ी तो वे भी सेना छोड़कर उनके साथ चले गए। वे एमएनएस के संस्थापक सदस्यों में से थे। (भाषा)



 

और भी पढ़ें :