30 मिनट के मेडिटेशन से बदल जाएगा आपका मस्तिष्क

पुनः संशोधित सोमवार, 8 मार्च 2021 (12:56 IST)
विश्व में करने का प्रचलन बढ़ा है। ध्यान करने से आपकी मोमोरी बढ़ती है, शांत रहता है और कई तरह के मानसिक रोगों का भी इलाज होता है। ध्यान पर विश्‍वभर में कई तरह के शोध हुए हैं। कुछ वर्ष पूर्व हुए शोध ने नए तथ्‍य सामने रखे हैं।
प्रत्येक शोध में ध्यान के मानसिक और शारीरिक महत्व और उपयोगिता को उजागर किया जाता रहा है, लेकिन हाल ही में पूर्व पेनीसिल्‍वेनिया विश्विविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा कराई गए एक शोध में ध्यान व योग से व्यक्तित्व के विकास की बात मानी गई है।

इस शोध में शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि किस तरह से ध्यान द्वारा मस्तिष्क को तीन चरणों में एकाग्रचित किया जा सकता है। साथ ही सक्रिय रहते हुए मस्तिष्‍क को प्रत्येक बिंदु पर क्रियाशील बनाया जा सकता है। इस शोध के दौरान प्रतिभागियों को एक महीने तक 30 मिनट की ध्यान की अवस्था में रखा गया। एक महीने के पश्चात उनके मस्तिष्क की क्रियाओं को मापा गया और उनकी मानसिक गतिविधियों का निरीक्षण किया गया।
इस शोध के निष्कर्ष स्वरूप इन प्रतिभागियों के मस्तिष्क और व्यवहार में काफी सकारात्मक परिवर्तन सामने आए। इस शोध का विस्तृत निष्कर्ष ‘कॉग्नीटिव, इफेक्ट्स एंड बिहेवियरल न्यूरोसाइंस’ नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।



और भी पढ़ें :