मंगलवार, 16 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. दीपावली
  3. धनतेरस
  4. Dhanteras par kya kharide
Written By
Last Modified: शुक्रवार, 10 नवंबर 2023 (15:32 IST)

Dhanteras: इस दिन करेंगे ये 7 कार्य तो हो जाएंगे मालामाल

dhanteras ki kharidi
Dhanteras 2023: 10 नवंबर 2023 शुक्रवार के दिन धनतेरस का पर्व मनाया जा रहा है। इस त्योहार पर यानी धन त्रयोदशी पर कुछ चीजें खरीदने के साथ ही 7 महत्वपूर्ण कार्य जरूर करना चाहिए। इससे घर में धन समृद्धि बनी रहती है और इसी के साथ ही सेहत संबंधी कोई समस्या भी नहीं होती है।
 
धन तेरस पर 7 कार्य जरूर करें:
1. दान: झाडू, अन्न, वस्त्र और लोहे का दान करें।
2. पूजा: इस दिन भगवान धन्वंतरि, यमराज, लक्ष्मी, कुबेर, गणेश और गऊधन की पूजा जरूर करें।
3. खरीदी: इस दिन सोना, चांदी, पीतल के बर्तन या धनिया जरूर खरीदें।
4. यम दीपम : इस दिन घर के दक्षिण भाग में यमराज के निमित्त दीपक जरूर जलाए।
5. सिक्का : इस दिन माता लक्ष्मी का चित्र या सिक्का जरूर खरीदना चाहिए।
7. हाथी : इस दिन चांदी का ठोस हाथी खरीदने की परंपरा है।
1. सोना खरीदना : इस दिन सोने या चांदी के आभूषण खरीदने की परंपरा भी है। सोना भी लक्ष्मी और बृस्पति का प्रतिक है इसलिए सोना खरीदें। कुछ लोग सोने या चांदी के सिक्के खरीदते हैं।
 
2. बर्तन खरीदना : इस दिन पुराने बर्तनों को बदलकर यथाशक्ति ताम्बे, पीतल, चांदी के गृह-उपयोगी नवीन बर्तन खरीदते हैं। पीतल के बर्तन लक्ष्मी और बृहस्पति के प्रतीक हैं अत: इस दिन सोना नहीं खरीद पा रहे हैं तो पीतल के बर्तन जरूर खरीदें।
 
3. धनिया खरीदना : इस दिन जहां ग्रामिण क्षेत्रों में धनिए के नए बीज खरीदते हैं वहीं शहरी क्षेत्र में पूजा के लिए साबुत धनिया खरीदते हैं। इस दिन सूखे धनिया के बीज को पीसकर गुड़ के साथ मिलकर एक मिश्रण बनाकर ‘नैवेद्य’ तैयार करते हैं।
 
4. नए वस्त्र खरीदना : इस दिन दीपावली पर पहनने के लिए नए वस्त्र खरीदने की परंपरा भी है। 
 
5. धन्वं‍तरि और लक्ष्मी पूजा : इस दिन समुद्र मंथन के दौरान धन्वंतरि देव अमृत का कलश लेकर प्रकट हुए थे और माता लक्ष्मी सोने का गढ़ा लेकर प्रकट हुई थी। अत: इस दिन दोनों की पूजा का महत्व है।
 
6. यम पूजा : धनतेरस के दिन यमराज के निमित्त जहां दीपदान किया जाता है, वहां अकाल मृत्यु नहीं होती है।
 
7. अन्य वस्तुएं : इसके अलावा इस दिन दीपावली पूजन हेतु लक्ष्मी-गणेश की मूर्ति, खिलौने, खील-बताशे आदि भी खरीदे जाते हैं।