ये 25 'महामानव' जिन्होंने बनाया भारत को

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
‍फिरोजशाह बहमनी : फिरोजशाह बहमनी बहमनी वंश का आठवां सुल्तान था। दक्षिण भारत में मुसलमानों के दो शासक वंश थे। पहला बहमनी और दूसरा निजामी। मुहम्मद बिन तुगलक के शासन काल के अन्तिम दिनों में दक्षिण में 'अमीरान-ए-सादाह' के विद्रोह के परिणामस्वरूप 1347 ई. में 'बहमनी साम्राज्य' की स्थापना हुई। बहमनी शसकों ने विजयनगर साम्राज्य को कड़ी चुनौती दी।
 
बहमनी शासकों में अलाउद्दीन बहमनशाह और फिरोजशाह बहमनी का नाम प्रमुख है। फिरोजशाह ने लगभग हर वर्ष पड़ोसी विजयनगर साम्राज्य पर हमले किए। अंतत: 1406 ई. में वह नगर में घुस गया राजा देवराय प्रथम (1406-12) को संधि करने के बदले में अपनी लड़की देने को मजबूर कर दिया था। फिरोजशाह के बाद उसका शासन तुर्क गुलामों के कब्जे में चला ‍गया। निजामशाही : दक्षिण भारत में ही निजाम शाही वंश का शासन था। इनका शासन (1490 ईस्वी से 1565 ईस्वी तक रहा। इस दौरान हिन्दू जनता पर बेहद जुल्म ढाए गए। इस वंश में हुसैन निजामशाह प्रमुख थे।
 
अगले पन्ने पर 20वें महान सम्राट...
 



और भी पढ़ें :