दिल्ली की दलित किशोरी की गुडगांव में गैंगरेप के बाद हत्या

Last Updated: मंगलवार, 31 अगस्त 2021 (17:33 IST)
गुडगांव। उत्तरी दिल्ली के नरेला की 13 वर्षीय एक दलित किशोरी से उसकी मकान मालकिन के एक रिश्तेदार ने गुडगांव में कथित तौर पर दुष्कर्म किया और फिर उसकी हत्या कर दी। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मकान मालकिन के भाई प्रवीण वर्मा को लड़की के पिता की शिकायत पर गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता के पिता ने पुलिस नियंत्रण कक्ष (पीसीआर) में कॉल करके शिकायत की कि आरोपी ने उनके परिवार को किशोरी का अंतिम संस्कार करने के लिए कथित तौर पर मजबूर करने की कोशिश की।
प्राथमिकी में लड़की के पिता ने कहा कि 17 जुलाई को मेरे मकान मालिक की पत्नी ने कहा कि उसकी भाभी ने बच्चे को जन्म दिया है और वह मेरी बेटी को अपने भाई के घर गुडगांव साथ ले जा रही हैं। उन्होंने कहा कि मेरी बेटी वहां रुक सकती है और उसके भाई के बच्चे के साथ खेल सकती है।


प्राथमिकी में कहा गया कि 23 अगस्त को दोपहर करीब 3 बजे किशोरी के पिता को मकान मालिक ने बताया कि उनकी बेटी की मौत हो गई। शाम करीब 7 बजे एक निजी एम्बुलेंस से शव को अंतिम संस्कार के लिए वे नरेला ले आए। प्राथमिकी में कहा गया कि किशोरी के पिता ने संदेह होने पर पीसीआर को कॉल किया और नरेला पुलिस थाने के कर्मी वहां पहुंचे, जहां से शव को बाबू जगजीवन राम अस्पताल ले जाया गया। किशोरी के पिता ने प्राथमिकी में आरोप लगाया है कि मकान मालकिन के भाई प्रवीण वर्मा ने अन्य के साथ मिलकर उनकी बेटी की हत्या कर दी।
गुडगांव पुलिस ने बताया कि उन्होंने भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और 120 बी (आपराधिक साजिश की सज़ा) और अनुसूचित जाति/जनजाति अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया। उन्होंने बताया कि पोस्टमॉर्टम में यौन उत्पीड़न की पुष्टि के बाद प्राथमिकी में अन्य धाराएं जोड़ी गईं और वर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया। इस महीने की शुरुआत में 9 साल की एक दलित बच्ची के साथ दिल्ली के कैंट इलाके में कथित तौर पर दुष्कर्म और हत्या का मामला सामने आया था।(भाषा)



और भी पढ़ें :