देश में नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार, मुख्यमंत्रियों के साथ PM मोदी की 5वीं बैठक, हो सकता है बड़ा फैसला

पुनः संशोधित सोमवार, 11 मई 2020 (10:33 IST)
नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी का प्रकोप जारी है। के बाद भी संक्रमित मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है। देशभर में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 4213 नए मामले सामने आए हैं। 103 लोगों का जान जा चुकी है। ये एक दिन में सामने आए अब तक के सबसे ज्‍यादा मामले और मौतें हैं। इससे पहले 5 मई को कोरोना के 3900 केस रिकॉर्ड किए गए थे। इस बीच आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने वाले हैं।
पीएम मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करने वाले हैं। इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन, मुख्य सचिव, गृह सचिव, स्वास्थ्य सचिव और राज्यों के डीजीपी भी शामिल होंगे। खबरों के अनुसार यह बैठक दो सत्रों में होनी है। सभी मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुझाव देंगे। खबरों के अनुसार प्रधानमंत्री इस बैठक में कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई में आगे की रणनीति बनाई जा सकती है।
मुख्यमंत्रियों के साथ पांचवीं बैठक : राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ यह प्रधानमंत्री की 5वीं बैठक है। इससे पहले 20 मार्च, 2 अप्रैल, 11 अप्रैल और 27 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी की राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक हो चुकी है। देश में लागू लॉकडाउन का मौजूदा चरण 17 मई को समाप्त हो रहा है। ऐसे में यह बैठक काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। माना जा रहा है कि इसमें कोई बड़ा फैसला लिया जा सकता है।
लॉकडाउन खत्म किया तो भयावह स्थिति : स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ-साथ दो सरकारी संस्थाओं एम्स और आईसीएमआर ने पहले ही संकेत दिए थे कि अगर लॉकडाउन खत्म किया गया तो, स्थिति भयावह हो सकती है। संस्थाओं का कहना था कि अभी लॉकडाउन में छूट देना आत्महत्या के समान होगा। एम्स के निदेशक तो ये तक कह चुके हैं कि अभी भारत में कोरोना मामले का सर्वोच्च आना बाकी है। उन्होंने जून-जुलाई में सबसे कोरोना मामलों के पीक पर पहुंचने की बात कही थी।



और भी पढ़ें :