मोदी ने Coronavirus को बताया वैश्विक संकट, कहा- भारत ने डटकर किया मुकाबला

Last Updated: शुक्रवार, 29 जुलाई 2022 (15:32 IST)
हमें फॉलो करें
चेन्नई। वैश्विक महामारी को अप्रत्याशित और सदी में एक बार आने वाला संकट करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश ने अपने वैज्ञानिकों और आमजन की मदद से आत्मविश्वास के साथ इसका सामना किया। राजग सरकार के बारे में मोदी ने कहा कि इस सरकार का स्वभाव सुधार करना है और यह सरकार प्रतिबंधात्मक नहीं, बल्कि उत्तरदायी है।

उन्होंने ड्रोन एवं भू-स्थानिक और बुनियादी ढांचा सहित विभिन्न क्षेत्रों में किए गए सुधारों का भी जिक्र करते हुए

यहां अन्ना विश्वविद्यालय के 42वें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कोविड-19 को ऐसा अप्रत्याशित और एक सदी में एक बार आने वाला संकट करार दिया जिसके निपटने की कोई तय नियमावली नहीं थी। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी ने हर देश की परीक्षा ली है।
मोदी ने कहा कि ने अपने वैज्ञानिकों, स्वास्थ्य सेवा कर्मियों, पेशेवरों और आमजन की मदद से अज्ञात (समस्या) का आत्मविश्वास से मुकाबला किया। इसके परिणामस्वरूप, भारत में हर क्षेत्र को नया जीवन मिल रहा है, चाहे वह उद्योग हो, नवाचार हो, निवेश हो या अंतरराष्ट्रीय व्यापार। उन्होंने कहा कि देश हर क्षेत्र में अग्रणी है और अवसर को बाधाओं में बदल रहा है। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में देश की सहायता के लिए पूर्वप्रभावी कर को हटाने और विभिन्न क्षेत्रों में किए गए सुधारों की सराहना की।
Koo App
The #COVID19 pandemic was an unprecedented event. It tested every country faced the unknown confidently, thanks to its scientists, healthcare professionals and common people PM Narendra Modi - PIB India (@PIB_India) 29 July 2022
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में राज्य में शिक्षा के माहौल की सराहना की और कहा कि यह राज्य उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले लोगों की संख्या के मामले में सबसे अलग नजर आता है। इस कार्यक्रम में राज्यपाल आरएन रवि, केंद्रीय राज्य मंत्री एल. मुरुगन और तमिलनाडु के उच्च शिक्षामंत्री के पोनमुडी भी शामिल हुए। समारोह में छात्रों को डिग्री और मेडल दिए गए।(भाषा)



और भी पढ़ें :