प्रवासियों को महंगा पड़ेगा क्वारंंटाइन में नहीं रहना, जाना पड़ेगा जेल

पुनः संशोधित शनिवार, 23 मई 2020 (11:14 IST)
इम्फाल। के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा है कि देश के विभिन्न राज्यों और विदेशों से राज्य लौट रहे लोगों को अनिवार्य रूप से क्वारंंटाइन में रहना होगा और ऐसा नहीं करने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार करके भेज दिया जाएगा।
सिंह ने कहा कि प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने वाले लोगों को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन कानून, 2005 के तहत सजा दी जाएगी। उन्होंने कहा, 'यह बहुत गंभीर मामला है। लौट रहे जो लोग प्रोटोकॉल का पालन नहीं करेंगे, उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा और जेल भेज दिया जाएगा।'

उन्होंने कहा कि विदेशों और देश के अन्य राज्यों से लौट रहे जो लोग जांच रिपोर्ट आने के बाद संक्रमित नहीं पाए जाएंगे, उन्हें उनके घर में पृथक-वास में रहने की अनुमति दी जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी प्राथमिकता इस बीमारी को सामुदायिक स्तर पर फैलने से रोकना है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के लिए घर में क्वारंंटाइन में रहना संभव नहीं है, उन्हें क्वारनटाइन सेंटरों में रखा जाएगा।

सिंह ने लोगों से अपील की कि वे राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या में हाल में बढ़ोतरी से घबराए नहीं। राज्य में से संक्रमित 24 लोगों का इस समय इलाज चल रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार हालात काबू करने के लिए पूरी तरह तैयार है।
उन्होंने कहा कि सरकारी आरआईएमएस और जेएनआईएमस अस्पतालों की प्रयोगशालाओं में हर रोज 200 से 300 नमूनों की जांच की जा रही है और रोजाना 700 से 800 नमूने एकत्र किए जा रहे हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :