मई रहा कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित महीना, 88 लाख से ज्यादा मामले और 1,17,247 लोगों की जान गई

Last Updated: मंगलवार, 1 जून 2021 (00:36 IST)
नई दिल्ली। भारत में अकेले में की दूसरी लहर के दौरान के 88.82 से अधिक मामले सामने आए जो देश में अब तक संक्रमित 2.8 करोड़ से अधिक लोगों का 31.67 प्रतिशत है। इस तरह, यह इस महामारी के दौरान सबसे खराब महीना रहा। मई में इस बीमारी के चलते 1,17,247 लोगों की जान भी गई जो अब तक इस संक्रमण से हुई 3,29,100 मौंतों का 35.63 प्रतिशत है।

7 मई को 24 घंटे में अब तक कोविड-19 के सर्वाधिक 4,14,188 मामले सामने आए और 19 मई को सबसे अधिक 4529 मरीजों ने अपनी जान गंवाई। रोजाना नए मामले 17 मई से 3 लाख से नीचे रहे और देश में पिछले 4 दिनों से प्रतिदिन दो लाख से कम मामले सामने आ रहे हैं। देश में 10 मई को सर्वाधिक 37,45,237 मरीज उपचाररत थे।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आज सुबह 9 बजे के आंकड़े के हिसाब से आज भारत में पिछले 50 दिनों में सबसे कम 1,52,734 नए मामले सामने आए और संक्रमितों का आंकड़ा 2,80,47,534, तक चला गया जबकि उपचाररत मरीजों की संख्या घटकर 20,26,092 रह गई। सोमवार को 3128 मरीजों की जान चले जाने के साथ ही इस महामारी से अबतक 3,29,100 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।
वैसे स्वस्थ होने वाले की संख्या लगातार 18वें दिन एक बार फिर नए मामलों से अधिक रही। पिछले 24 घंटों में 2,38,022 मरीजों ने संक्रमण को मात दी और अब तक 2,56,92,342 रोगी संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। मृत्युदर 1.17 फीसद है। उपचाररत मरीज कुल संक्रमितों का 7.22 फीसद हैं जबकि स्वस्थ होने की दर 91.60 हो गई है।



और भी पढ़ें :