दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में Corona का कहर, जानिए किसने क्या लिए बड़े फैसले

वेबदुनिया न्यूज डेस्क| Last Updated: शुक्रवार, 20 नवंबर 2020 (23:28 IST)
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में (Corona) के बढ़ते मामलों ने चिंता में डाल दिया है। केन्द्र सरकार की ओर से भले ही अभी कोई कोरोना की नई जारी नहीं हुई हैं, लेकिन राज्य सरकारों ने अपने स्तर पर फैसले लेने शुरू कर दिए हैं। में भी शिवराज सरकार ने लगाने से साफ इनकार जरूर किया लेकिन 5 जिलों (इंदौर, भोपाल, रतलाम,
ग्वालियर और विदिशा) में 21 नवम्बर से नाइट कर्फ्यू (रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक) लगा दिया है।

मध्यप्रदेश : मध्यप्रदेश में कंटेनमेंट जोन में अब सभी दुकाने और प्रतिष्ठान रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगे। आवश्यक सेवाएं इनसे प्रभावित नहीं होंगी। प्रदेश में स्कूल और कॉलेजों को बंद ही रखने का फैसला लिया गया है। अंतरराज्यीय एवं अंतर जिला परिवहन सतत एवं निर्बाध रूप से चल सकेगा। मास्क का सख्ती से पालन कराए जाने के निर्देश भी जारी किए हैं ताकि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।
दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार को कोविड-19 के 6,608 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों का आंकड़ा 5.17 लाख से अधिक पहुंच गया जबकि इसी अवधि के दौरान इस महामारी से 118 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या 8,159 हो गई। दिल्ली में इस समय 40,936 मरीजों का इलाज चल रहा है। दिल्ली में निरूद्ध क्षेत्रों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 4,560 हो गई जबकि पिछले दिन यह संख्या 4,501 थी।
Corona
घर-घर जाकर सर्वेक्षण करने का अभियान : दिल्ली में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के बीच शहर में घनी आबादी वाले इलाकों और निषिद्ध क्षेत्रों में कोविड-19 के लक्षण वाले लोगों की पहचान और जांच के लिए घर-घर जाकर सर्वेक्षण करने का अभियान शुक्रवार को शुरू किया गया। अधिकारियों के मुताबिक घनी आबादी वाले इलाकों और संक्रमण के ज्यादा मामले वाले क्षेत्रों के 57 लाख से ज्यादा लोगों के स्वास्थ्य की स्थिति की निगरानी की जाएगी।
: गुजरात में शुक्रवार को कोविड-19 के 1420 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 1,94,402 हो गई है। कोरोना से 7 और मरीजों की मौत हो जाने से कुल मृतकों की संख्या 3837 हो गई। कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित अहमदाबाद में संक्रमण के 327 मामले आए। यही कारण है कि अहमदाबाद में प्रशासन ने 57 घंटे का कर्फ्यू लगाने का ऐलान कर दिया। यह कर्फ्यू शुक्रवार रात 9 बजे से शुरू हो गया है, जो सोमवार 23 नवंबर को सुबह 6 बजे समाप्त होगा।
बाजारों में टूटी भीड़ : अहमदाबाद में लॉकडाउन (Lockdown) की अफवाह फैलने के कारण बाजार में जरूरी सामान खरीदने के लिए लोगों के भीड़ बढ़ गई। हालांकि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा कि उनकी सरकार राज्यव्यापी लॉकडाउन पर विचार नहीं कर रही है। इस ‘पूर्ण कर्फ्यू’ के दौरान केवल दूध और दवा की दुकानें खुली रहेंगी जबकि रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक रोजाना रात का कर्फ्यू अगले आदेश तक लागू रहेगा।

: देश में कोरोना महामारी से सबसे अधिक प्रभावित महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमण के 5,640 नए मामले सामने आने से कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 17,68,695 पहुंच गई। 155 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा 46,511 हो गया है। महाराष्ट्र पूरे देश में कोरोना संक्रमण और इससे होने वाली मौत के मामले में पहले स्थान पर है। सबसे अधिक सक्रिय मामले भी इसी राज्य में हैं।
Jammu Kashmir School
स्कूल 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे : बृहन्मुंबई नगर पालिका (बीएमसी) ने शुक्रवार को मुंबई के स्कूल 31 दिसंबर तक बंद रहने की घोषणा की। मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर ने कहा कि बीएमसी ने पहले 23 नवंबर से स्कूल खुलने की घोषणा की थी लेकिन कोरोना की समस्या को देखते हुए स्कूलों को 31 दिसंबर तक बंद रहने की घोषणा की।
: राजस्थान में भी कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। शुक्रवार को 14 और लोगों की मौत हो गई जबकि 2,762 नए मामले सामने आए। गहलोत सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए राज्य के सभी जिला मजिस्ट्रेट को 21 नवंबर से धारा-144 लगाने के अधिकार प्रदान किए हैं। कोटा में शनिवार सुबह से 20 जनवरी तक धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की जा रही है। किसी भी सार्वजनिक स्थल पर 5 से अधिक व्यक्ति इकट्ठे नहीं होंगे। अंतिम संस्कार में भी 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे।



और भी पढ़ें :