मंगलवार, 27 फ़रवरी 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. कोरोना वायरस
  4. Children 7-11 years old will get Covovax vaccine
Written By
Last Updated : मंगलवार, 28 जून 2022 (23:21 IST)

Corona Vaccine: 7-11 साल के बच्चों को लगेगी सीरम इंस्टीट्यूट की 'कोवोवैक्स' वैक्सीन, DCGI ने दी मंजूरी

Corona Vaccine: 7-11 साल के बच्चों को लगेगी सीरम इंस्टीट्यूट की 'कोवोवैक्स' वैक्सीन, DCGI ने दी मंजूरी - Children 7-11 years old will get Covovax vaccine
नई दिल्ली। भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने मंगलवार को सीरम इंस्टीट्यूट के कोविड-19 रोधी टीके कोवोवैक्स को कुछ शर्तों के साथ 7 से 11 साल के बच्चों में सीमित आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दे दी। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।
 
डीसीजीआई की मंजूरी पिछले सप्ताह कोविड संबंधी विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) द्वारा 7 से 11 वर्ष के आयु वर्ग के लिए कोवोवैक्स टीके को आपातकालीन उपयोग की अनुमति देने की सिफारिश किए जाने के बाद आई है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) में सरकार और नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने 16 मार्च को इस संबंध में डीसीजीआई को एक अनुरोध पत्र दिया था।
 
एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि एसईसी ने पिछले हफ्ते एसआईआई के आवेदन पर विचार-विमर्श किया था और 7 से 11 साल के बच्चों के लिए कोवोवैक्स टीके के लिए आपातकालीन उपयोग की अनुमति देने की सिफारिश की।
 
विशेषज्ञ समिति ने अप्रैल में अपनी पिछली बैठक में 7 से 11 वर्ष आयु वर्ग के लिए कोवोवैक्स के आपातकालीन उपयोग की मांग करने वाले एसआईआई के आवेदन के बाद अधिक आंकड़े उपलब्ध कराने को कहा था। डीसीजीआई ने 28 दिसंबर को वयस्कों में आपातकालीन स्थितियों में सीमित उपयोग के लिए कोवोवैक्स को मंजूरी दी थी और 9 मार्च को कुछ शर्तों के साथ 12 से 17 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों के लिए मंजूरी दी थी।
 
भारत ने 16 मार्च को 12-14 आयु वर्ग के बच्चों का टीकाकरण शुरू किया। देशभर में टीकाकरण अभियान पिछले साल 16 जनवरी को शुरू किया गया था जिसमें स्वास्थ्यकर्मियों को पहले चरण में टीका लगाया गया था। अग्रिम पंक्ति के कर्मियों का टीकाकरण पिछले साल 2 फरवरी से शुरू हुआ था।(भाषा)
ये भी पढ़ें
Udaipur : कन्हैयालाल की हत्या के लिए गहलोत सरकार जिम्मेदार, BJP का आरोप- कांग्रेस के राज में राजस्थान का हो रहा है तालिबानीकरण