मैं आरके फिल्म्स का गुनहगार हूं : वेबदुनिया को बताया था ऋषि कपूर ने

रूना आशीष| पुनः संशोधित गुरुवार, 30 अप्रैल 2020 (11:35 IST)
लगभग ढाई साल पहले ने अपनी एक फिल्म के प्रमोशन के दौरान वेबदुनिया संवाददाता रूना आशीष से बात की थी। उन्होंने यह भी बताया था कि आरके फिल्म्स जैसे प्रतिष्ठित बैनर तले फिल्में क्यों नहीं बनाई जा रही है। पेश है इस इंटरव्यू के चुनिंदा अंश:

मैं आरके फिल्म्स का गुनहगार हूं क्योंकि मैंने फिल्में नहीं बनाई। असल में मेरा पहला प्यार तो एक्टिंग है। जैसे ही मैंने लीड रोल करना छोड़ा, मैंने अपनी पहली फिल्म 'आ अब लौट चलें' बनाई। उसके बाद तो मैं अभिनय की और लौट गया और फिल्मों पर फिल्में करता रहा।

फिल्म बनाने का कोई विषय ही नहीं सूझ रहा था। आप कहेंगे कि किसी और को क्यों नहीं दिया फिल्में बनाने का काम। आपके घर में रणबीर कपूर जैसा हीरो है, करीना कपूर जैसी हीरोइन है। घर पर ही कैरेक्टर आर्टिस्ट हैं। स्टूडियोज़ हैं।

मैं कहूंगा कि आरके बैनर बदलते दौर में फंस गया। शायद इसलिए क्योंकि सिनेमा बनाने और देखने का स्टाइल बदल गया।

आज आप गाने सुनते नहीं देखते हैं। हम उस किस्म के लोग है जो गाने सुनाते थे और हमारी स्टाइल भी वही है।
उस समय के गानों के ही बात कर लीजिए।

आज के समय में अगर वैसे गाने बनने लग जाएं तो म्यूज़िक कंपनी के लोग कहने लगते हैं कि ये कैसे गाने हैं?
कौन सुनेगा? इन गानों का तो रिंगटोन भी नहीं बनता है। तो क्या रिंग टोन की वजह से आज गाने बन रहे हैं?

गीतकार और गायक सभी कहते हैं कि काम जो हम करना चाहते है वो काम तो मिल ही नही रहा है। जो काम हम कर रहे हैं उस पर लोग हमें गालियां देते हैं।

आजकल संगीतकार और म्यूज़िक कंपनीज़ ने अपने-अपने गायक रख लिए हैं और उनके साथ कॉन्ट्रेक्ट करते हैं कि आप इतने गाने गाइये। अगर कहीं शो करते हैं तो इतना प्रतिशत हमारा बनता है।


और भी पढ़ें :