हेयर स्ट्रेटनिंग से हो सकता है बालों को नुकसान

hair straightening

- नेहा रेड्‍डी

खूबसूरत बालों की चाहत हर किसी की होती है। लंबे, सिल्की व शाइनी बालों की तमन्ना हर लड़की की होती है। इसके लिए लड़कियां सहारा लेती हैं का जिससे उनके बाल भले ही कुछ समय के लिए ही सही, पर सिल्की, स्ट्रेट और शाइनिंग हो जाते हैं। इसके लिए पॉर्लर में जाकर लंबे-चौड़े बिल की भी उनको परवाह नहीं होती है।
भले ही आपको पॉर्लर में स्ट्रेटनिंग में लगे पैसों की परवाह न हो, पर अपने बालों की परवाह तो सभी लड़कियों को होती है। क्या आप जानते हैं कि बालों में स्ट्रेटनिंग के क्या नुकसान हो सकते हैं? कुछ समय की बालों की खूबसूरती लंबे समय का नुकसान करवा सकती है। चाहे वो स्ट्रेटनिंग घर में आप ऑफिस या कॉलेज जाते समय करें या केमिकल्स ट्रीटमेंट के साथ परमानेंट स्ट्रेटनिंग करवाएं, इससे बालों को तो नुकसान होता ही है। तो अगर आप हेयर स्ट्रेटनिंग की सोच रही हैं तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान।

अगर आप करवाने की सोच रही हैं तो एक बात यह भी जान लीजिए कि यदि आप बालों को सीधा करवाना चाहती हैं तो आपके बालों की नमी इससे जा सकती है और बाल रूखे तथा बेजान हो सकते हैं, क्योंकि हेयर स्ट्रेटनिंग बालों की प्राकृतिक नमी को खत्म कर देता है।
अगर आप रोज बालों को स्ट्रेट कर रही हैं तो यह आपके बालों को ड्राय कर सकता है और दोमुंहे बालों की भी समस्या हो सकती है। इसलिए कोशिश करें कि बालों को हफ्ते में एक या दो बार ही स्ट्रेट करें, रोज-रोज नहीं।

आपके बालों में नेचुरल ऑइल होता है, जो आपके बालों को शाइनी बनाता है और जब आप बालों को स्ट्रेट करवाते हैं, तब उस समय बालों से निकलने वाला धुआं आपके बालों की नेचुरल चमक को खत्म कर देता है।

हेयर स्ट्रेटनिंग आपके बालों को कमजोर करता है जिससे आपके बाल कमजोर होने के कारण झड़ सकते हैं, क्योंकि हेयर स्ट्रेटनिंग के समय आपके बालों में केमिकल्स का भी प्रयोग किया जाता है, जो आपके बालों की जड़ों को कमजोर करता है।

हम बालों को खूबसूरत बनाने के लिए इन ट्रीटमेंट की तरफ रुख करते हैं लेकिन ये ट्रीटमेंट लंबे समय तक नहीं रहते हैं और एक समय बाद आपके बालों से धीरे-धीरे स्ट्रेटनिंग हटते चली जाएगी जिससे कि आपके बाल बेहद ही रूखे और बेजान नजर आने लगेंगे और हर बार आपको यह ट्रीटमेंट लेना पड़ सकता है।
बार-बार हेयर स्ट्रेट करना आपके बालों की ग्रोथ को भी नुकसान पहुंचा सकता है और आपके बालों की जड़ें कमजोर हो जाती हैं, साथ ही स्कैल्प भी ड्राय हो जाती है जिससे डेंड्रफ होने का खतरा बना रहता है।

हेयर स्ट्रेटनिंग के बाद आपको पॉर्लर द्वारा बताए गए शैम्पू का ही इस्तेमाल करना पड़ता है जिसे आप हमेशा इस्तेमाल कर पाओ, यह कभी-कभी मुमकिन नहीं हो पाता और बालों को पूरी तरह से मेंटेन कर पाना मुश्किल हो जाता है और बाल धीरे-धीरे बेजान नजर आने लगते हैं।

 

और भी पढ़ें :