Maruti को पहली तिमाही में हुआ मुनाफा, कंपनी का प्रॉफिट बढ़कर हुआ 1000 करोड़ के पार

Last Updated: बुधवार, 27 जुलाई 2022 (20:21 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। देश की सबसे कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी का वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में शुद्ध लाभ वार्षिक आधार पर 129.76 प्रतिशत के बड़े उछाल के साथ 1,012.80 करोड़ रुपए रहा। कंपनी का वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में शुद्ध लाभ 440.80 करोड़ रुपए था।

मारुति सुजुकी ने बुधवार को जारी तिमाही परिणामों में बताया कि आलोच्य तिमाही में कंपनी को 50.52 प्रतिशत की बढ़त के साथ 25,286.30 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ जो 30 जून 2021 को समाप्त हुई तिमाही में 16,798.70 करोड़ रुपए था।

की पहली तिमाही में कंपनी ने 4,67,931 वाहनों की बिक्री की जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 3,53,614 वाहन बिके थे। इस तिमाही में कंपनी का परिचालन मार्जिन 0.45 प्रतिशत सुधरकर पांच प्रतिशत पर आ गया।
मारुति सुजुकी ने कहा कि इस तिमाही में इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की कमी के कारण लगभग 51,000 वाहनों का उत्पादन नहीं हुआ। तिमाही के अंत में ग्राहकों के लगभग 2,80,000 वाहनों के ऑर्डर लंबित थे। कंपनी इन ऑर्डरों को जल्द पूरा करने का प्रयास कर रही है।
टाटा मोटर्स को घाटा : टाटा मोटर्स को वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में 5,006.60 करोड़ रुपए का घाटा हुआ। कंपनी ने बुधवार को जारी परिणामों में बताया कि वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में उसे 4,450.92 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।
टाटा मोटर्स का 30 जून, 2022 को समाप्त हुई तिमाही में समेकित आधार पर राजस्व बढ़कर 71,934.66 करोड़ रुपये रहा जो इससे पिछले वर्ष की समान तिमाही में 66,406.45 करोड़ रुपये था।
जागुआर लैंड रोवर (जेएलआर) ने आलोच्य तिमाही में वार्षिक आधार पर 37 प्रतिशत की गिरावट के साथ 78,825 वाहन बेचे।

इस तिमाही में टाटा के वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री में मजबूत उछाल दर्ज किया गया।
टाटा ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 101.7 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 1,30,351 यात्री वाहन बेचे।
टाटा मोटर्स लिमिटेड के कार्यकारी अधिकारी गिरिश वाघ ने कहा कि वापस पटरी पर लौट रही अर्थव्यवस्था के नेतृत्व में वाणिज्यिक वाहन उद्योग ने सभी क्षेत्रों में बढ़ती मांग को जारी रखा। सेमीकंडक्टर की कमी की क्रमिक सहजता और हमारी नीतियों के साथ टाटा मोटर्स ने 1,01,113 वाहनों की बिक्री करते हुए वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के मुकाबले 100 प्रतिशत की वृद्धि हासिल की।
उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 100 इलेक्ट्रिक बसों और ऐस ईवी को पेश करते हुए अंतर-शहर में यातायात के समाधान प्रदान करते हुए अपनी स्थिर आवाजाही की प्रतिबद्धता को दर्शाया। प्रमुख ई-कॉमर्स कंपनियों और लॉजिस्टिक्स सेवा प्रदाताओं 39,000 ऐस ईवी की डिलीवरी के लिए समझौते किए गए। वाघ ने कहा कि आगे बढ़ते हुए हम ब्याज दरों, लागत खर्च, ट्रांसपोर्टर लाभप्रदता और सेमीकंडक्टर उपलब्धता पर कड़ी नजर रखते हुए समग्र वाणिज्यिक वाहनों की मांग के बारे में सतर्क रूप से आशावादी बने हुए हैं।



और भी पढ़ें :