11 सरल शुभ मंत्र बनाए जीवन सौभाग्यशाली...


- श्री रामानुज  
 
 
प्राचीन वैदिक शास्त्रों और नियमों में हर दिन की शुरुआत योग्य शुभ मंत्रों के स्मरण से होती है। यदि कोई भी व्यक्ति इस नियम का विधिवत पालन करे तो उसका जीवन सुख और सौभाग्य से परिपूर्ण होता है। 
 
जानिए प्रात:काल का मंत्र : 
 
प्रात: कर-दर्शनम्
 
 
कराग्रे वसते लक्ष्मी करमध्ये सरस्वती।
 
करमूले तू गोविन्द: प्रभाते करदर्शनम्।।
 

भूमि पर चरण रखते समय जरूर स्मरण करें :- 
 
पृथ्वी क्षमा प्रार्थना
 
 
समुद्र वसने देवी पर्वत स्तन मंडिते।
 
विष्णु पत्नी नमस्तुभ्यं पाद स्पर्शं क्षमश्वमेव 

त्रिदेवों के साथ नवग्रह स्मरण
 
 
ब्रह्मा मुरारिस्त्रिपुरान्तकारी भानु: शशी भूमिसुतो बुधश्च।
 
गुरुश्च शुक्र: शनिराहुकेतव: कुर्वन्तु सर्वे मम सुप्रभातम्।।
 
****** 

 


और भी पढ़ें :