September Astrology: कैसा होगा सितंबर 2021, देश, दुनिया, व्यापार, मौसम और सेहत के लिए जानिए

September Astrology
के प्रथम 2 सप्ताहों में भारत, नेपाल, भूटान और रूस में शांति का माहौल रहेगा। अमेरिका, ईरान, इराक, अफगानिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, चीन व पाकिस्तान में अशांति रहेगी और बालकों पर कष्ट रहेगा। दुबई, कुवैत, अंडमान निकोबार द्वीप, उत्तर कोरिया में आर्थिक स्थिति तो ठीक रहेगी, परंतु आंतरिक कष्ट रहेगा व साथ ही महामारी का भय रहेगा। अन्य देशों में उतार-चढ़ाव रहेगा।
पेट्रोल, डीजल, सोना, पीतल, एल्युमीनियम, तांबा व लोहे में तेजी बनी रहेगी। कांसा, चांदी, हीरा, मोती, पन्ना, पुखराज व मूंगा में मंदी रहेगी। गोमेद व लहसुनिया के भाव सामान्य रहेंगे। गेहूं, चना, तुअर, पीली सरसों व मूंगफली में तेजी रहेगी लेकिन मूंग, चवले, मसूर व चावल में मंदी रहेगी। अन्य अनाज में उतार-चढ़ाव रहेगा। इस माह राजनीति में कई प्रकार के उतार-चढ़ाव रहेंगे व सरकार को नाना प्रकार के विरोध का सामना करना पड़ेगा, परंतु सारे विरोध का सामना व्यवस्थित रूप से हो जाएगा व ग्रहों की स्थिति से सरकार सफल रहेगी तथा सभी समस्याओं का हल हो जाएगा।
इस माह नाना प्रकार के विश्व में आम जनता पर कष्ट रहेगा। किसी भी धार्मिक व सामाजिक कार्यों में युवा वर्ग अधिक रुचि लेगा। विशेष धार्मिक क्षेत्र में आस्था और विश्वास में वृद्धि होगी। इस माह में महिला वर्ग की उन्नति के रास्ते खुलेंगे। पुरुष वर्ग के लिए यह माह ठीक-ठीक रहेगा। विद्यार्थी वर्ग के नए रास्ते खुलेंगे व बालकों पर कष्ट रहेगा। बुजुर्ग वर्ग के लिए यह माह पहले से अच्छा रहेगा। व्यापारी वर्ग के लिए यह माह शनै:-शनै: लाभ देने वाला रहेगा। नौकरी वर्ग वालों के लिए यह माह अधिक परिश्रम वाला रहेगा, परंतु कृषक वर्ग के लिए यह माह परेशानी वाला रहेगा।
माह के अंतिम 2 सप्ताह पूर्व के देशों में शांति रहेगी। उत्तर के देशों के लिए आंतरिक सुरक्षा की चिंता रहेगी और पश्चिम के देशों के लिए यह माह महिलाओं व बालकों के कष्ट वाला रहेगा तथा दक्षिण के देशों में अशांति और युद्ध के भय वाला रहेगा।

इस माह की कुंडली को बादल की चाल की नजर से देखें तो मौसम में पूर्ण परिवर्तन होगा। उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, पंजाब, उत्तराखंड, चेन्नई व हरियाणा में अच्छी वर्षा होगी। छत्तीसगढ़, कर्नाटक, बिहार, गुजरात, आंध्रप्रदेश, हैदराबाद व दिल्ली में तेज वर्षा होगी। कहीं-कहीं मध्यम वर्षा होगी। केरल, पश्चिम बंगाल व जम्मू-कश्मीर में प्राकृतिक प्रकोप जैसी स्थिति बन सकती है। अन्य प्रदेशों में कहीं तेज कही कम वर्षा रहेगी।




और भी पढ़ें :