मंगलवार, 2 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. ज्योतिष
  3. ज्योतिष आलेख
  4. पंडित प्रदीप मिश्रा के 25 अचूक उपाय, जरूर आजमाएं
Written By WD Feature Desk
Last Updated : मंगलवार, 20 फ़रवरी 2024 (18:16 IST)

पंडित प्रदीप मिश्रा के 25 अचूक उपाय, जरूर आजमाएं

pandit pradeep mishra
pandit pradeep mishra
Pandit pradeep ji mishra ke upay: सीहोर वाले बाबा एवं रघु नाम से प्रख्यात पंडित प्रदीप मिश्रा जी शिव पुराण की कथा सुनाते हैं और उसी में से या कथा के दौरान वे जीवन को सुखी बनाने संबंधी उपाय भी बताते हैं। उनके छोटे छोटे उपाय बहुत प्रसिद्ध हो चले हैं। आप भी उनके उपाय आजमा कर जीवन को सुखी और समृद्धि पूर्ण बना सकते हैं। सोशल मीडिया पर प्रचलित उनके 25 महत्वपूर्ण उपाय हमने आपके लिए संकलित किए हैं। इन उपायों को विस्तृत रूप से जानने के लिए पंडित जी के वीडियो देखें।
1. पंडित प्रदीप मिश्रा जी अपने एक वीडियो में कि यदि कोई काम नहीं हो रहा है। बहुत बाधाएं आ रही हैं तो जिस दिन सोमवार की अष्टमी हो उस दिन 31 मूंग के दाने, 31 चावल के दाने और 31 बेलपत्र लेकर शिव मंदिर जाएं। अपनी मनोकामना बोलकर चावल को शिवजी के मंदिर की दहलीज पर रख दो। ऐसा रखो कि किसी का पैर नहीं लगे। मूंग के दाने को नंदी भगवान के उस पैर के पास रखो जो उनका पैर ऊंचा रहता है। 31 बेलपत्र जलाधारी में जहां से जल निकलता है उससे अशोक सुंदरी का स्थान कहते हैं। वहां पर उन बेलपत्रों को रख दो। अगली सोमवार की अष्टमी तक आपकी मनोकामना पूर्ण हो जाएगी।
 
2. पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि मंगलवार और बुधवार को लिया गया कर्ज कभी नहीं चुकता नहीं होता है। ऐसे में इन 2 दिनों में कर्ज न लेने की सलाह दी जाती है। ऋण से मुक्ति पाने के लिए मंगलवार को भगवान शिव को मसूर की दाल चढ़ाते हुए ॐ ऋण मुक्तेश्वर महादेवाय नमः: मंत्र का जाप करना चाहिए। इससे कर्ज से मुक्ति मिल जाती है।
3. पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि कई बार ऐसा होता है कि एक दुख से छुटकारा मिला कि दूसरा खड़ा हो जाता है। एक समस्या से मुक्ति मिली नहीं कि दूसरी सामने आ जाती है। ऐसे में प्रदोष के दिन प्रदोष काल में 2 जगहों पर दीपक लगाना प्रारंभ कर दें। पहला दीया बेलपत्र के वृक्ष के नीचे और दूसरे दीया अपने दरवाजे की चौखट के बाहर उस ओर जब हम घर में प्रवेश करें तो राइट हैंड पर लगाएं। दोनों ही जगह शिवजी से प्रार्थना करें कि हे नंदीश्वर आप जब भी प्रदोष काल में भ्रमण पर निकले तो मैंने भी आपके लिए द्वार सजाया है। थोड़ी दया मेरे घर की चौखट पर भी कर देना।
 
4. पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि किसी भी सोमवार, सोमवार की अष्टमी और शिवरात्रि पर गंभीर बीमारी से मुक्ति पाने के लिए शमी के फूल को नीलकंठेश्वर महादेव का नाम लेकर शिवलिंग पर अर्पित कर दें। इसके अलावा गाय का घी अर्पित कर दें। पांच कमलगट्टे और पांच बेलपत्र तांबे के लोटे में जल भरकर रख लें। सीधे हाथ में उस लोटे को रखो और श्री शिवाय नमस्तुभ्यं। इस मंत्र का पांच बार स्मरण करके लोटे को माथे से लगाकर अपनी तकलीफ को मन में रखकर इस लौटे को अपने गांव, नगर आदि से दूर एकांत में जहां पर शिव मंदिर हो या किसी वृक्ष के नीचे शिवलिंग हो वहां पर उस शिवलिंग पर यह जल कमलगट्टे और बेलपत्र सहित अर्पित कर दें। उसमें से एक कमलगट्टे और बेलपत्र को उठाकर अपने घर पर लेकर आ जाओ और उसे पूजा घर में रखकर शिवजी का स्मरण करो।
 
5. पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि शुक्रवार के दिन एक तांबे के लोटे में जल भरें। एक आंकड़े का फूल लें। दोनों को लेकर शिव मंदिर में जाएं और शिवलिंग पर सबसे पहले तांबे के लोटे का जल अर्पित करें। जल अर्पित करते समय श्री शिवाय नमस्तुभ्यं मंत्र का जप करें। इसके बाद आंकड़े के फूल को जलाधारी में अशोक सुंदरी वाले स्थान पर अर्पित कर देना हैं। 
 
6. पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि शुक्रवार को शमी के पत्ते को पहले शिवलिंग के पास अर्पित करें और फिर उसी पत्ते को उठाकर शिवलिंग के ऊपर श्री शिवाय नमस्तुभ्यं मंत्र बोलते हुए अर्पित कर दें। महाशिवरात्रि के दिन जूही के फूल से भगवान शिव का पूजन करें तो घर से दरिद्रता दूर भाग जाती है। शमी वृक्ष के पत्तों तथा चमेली के फूल से शिव जी का पूजन करने पर अपार धन-संपदा का आशीष मिलता है। महाशिवरात्रि पर सायंकाल के समय शिव मंदिर में दीया जलाने से धन संबंधी समस्याएं दूर होकर अपार धन-संपत्ति तथा ऐश्वर्य की प्राप्ति होती हैं।
 
7. श्रावण मास की दशमी तिथि को शमी के 11, 21 या 51 पत्ते लेकर शहद में डुबोकर शंकर भगवान के शिवलिंग का श्रृंगार करो। लिंगपुराण कहता है कि जब हम शमी के पत्ते को शहद में डुबोकर शिवलिंग का श्रृंगार करते हैं तो शंकर भगवान हमें कर्ज से मुक्ति दिलाते हैं।
 
8. पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि मंगलवार के दिन शिवलिंग को पके चावल से ढक दो और फिर उसके बाद उस पर 7 बेलपत्र अर्पित कर दो। ऐसा माना जाता है कि यह उपाय बहुत ही अचूक है और ऐसा करने से आपकी धन से जुड़ी सभी समस्याएं दूर होती है और आप कर्ज से मुक्ति हो जाएंगे। मां लक्ष्मी की कृपा आप सब पर बनी रहेगी।
 
9. पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि मंगलवार के दिन भगवान शिव को मसूर की दाल का भोग लगाना है और जब आप मसूर की दाल चढ़ाएं तो इस मंत्र का उच्चारण जरूर करें- ॐ ऋण मुक्तेश्वर महादेवाय नमः। ऐसे करने से जल्द ही कर्ज से मुक्ति मिलेगी।
Pradeep mishra karj mukti upay
Pradeep mishra karj mukti upay
10. एक चुटकी हल्दी और 2 हरी इलाइजी। दोनों इलाइची पर हल्दी का लेप लगा लें और अब दो आटे के दीपक लें और उसमें घी डालकर बाती लगा लें। अब पहला दीपक गणेशजी की प्रतिमा या चित्र के सामने ॐ गं गणपतये नमः: का जाप करते हुए प्रज्वलित करें। उसमें एक हरी इलायची भी अर्पित कर दें। इस दौरान गणेशजी से कर्ज मुक्ति की कामना करें। अब तुलसी के गमले में थोड़ा सा गड्ढा करके दूसरी इलायची को दबा देना है और दूसरा दीपक उसी इलायची के ऊपर रखकर तुलसी माता के समक्ष ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम: या ॐ महालक्ष्मी नमः: का 108 बार जाप करते हुए प्रज्वलित कर देना है। इस दौरान माता से धन समृद्धि की कामना भी करना है।
 
11. प्रदीप मिश्रा शिव पुराण की कथा में कहते हैं कि 'एक लोटा जल सभी समस्या का हल' यानी एक लोटा जल भगवान शिव को चढ़ाने से मनुष्य की सारी समस्याओं का निराकरण हो जाता है। शिवजी को जल अर्पित करते वक्त बिल्वपत्र पर शहद लगाकर चढ़ाना, आंकड़े का फूल चढ़ाना और चंदन अर्पित करना बहुत ही शुभ होता है।
 
12. पंडित प्रदीप मिश्रा जी कहते हैं कि जो बिल्वपत्र भगवान शिव पर चढ़ाया जाता है उसे फेंकना नहीं चाहिए अपितु उसे खा लेना चाहिए। ऐसा करने से मनुष्य रोग मुक्त हो जाता है।
 
13. पंडित मिश्रा जी कहना है कि प्रति सोमवार के दिन भगवान शिव की आराधना करने से गृह कलह से पूरी तरह छुटकारा मिलता हैं।
 
14. शिव पुराण के उपाय के अनुसार सोमवार के दिन भगवान शिव को बिल्वपत्र अर्पित करने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं और उनका आशीर्वाद भी उस व्यक्ति पर हमेशा बना रहता है। 
 
15. सोमवार के दिन शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाने से भगवान शिव अपने भक्तों की सभी प्रकार की समस्याएं हल कर देते हैं।
 
16. यदि नेत्रों से संबंधित कोई भी परेशानी है तो महाशिवरात्रि के दिन रात को 12 बजे शहद के साथ बिल्वपत्र चढ़ाने और उस शहद को एक बर्तन में इकट्ठा करने के बाद अवधूतेश्वर महादेव का नाम लेकर उस शहद को 3 महीने तक नेत्रों में काजल की तरह लगाने पर आंखों की रोशनी में फायदा होता है।
 
17. परिवार का कोई सदस्य गंभीर रोग से पीड़ित हैं तो शमी के पेड़ से एक फूल लेकर नीलकंठेश्वर महादेव का जाप करते हुए शिवलिंग पर चढ़ाना चाहिए। इसके बाद नीलकंठेश्वर महादेव से थोड़ा जल लेकर उस रोगी के शरीर पर लगाना चाहिए। इस उपाय से रोगी को लाभ मिलता है।
 
18. किसी की समय पर शादी नहीं हो पा रही है या विवाह में अड़चन आ रही हैं तो एक सूखा नारियल का गोला लेकर ऊपर की और से थोढ़ा सा ढक्कन की तरह काट लें। फिर इस नारियल में सत्यनारायण भगवान का प्रसाद या पंजीरी भरकर उसे कटे हुए भाग से बंद कर दें। इस नारियल को किसी पीपल के पेड़ के नीचे दबा दें। शिव जी की कृपा से उस व्यक्ति का विवाह बहुत जल्द ही हो जाएगा।
 
19. परिवार को किसी सदस्या को अकाल मृत्यु से बचाना हैं तो आप नर्मदा नदी से निकले शिवलिंग को अपने घर के मंदिर में स्थापित कर उसकी नित्य पूजा करें। इससे आपके घर में कभी अकाल मृत्यु नहीं होगी।
 
20. यदि किसी महिला को संतान की प्राप्ति नहीं हो रही है तो उस महिला के रजस्वला यानी मासिक धर्म के सातवें दिन सफेद आंकड़े की जड़ को लेकर शिवलिंग पर 7 बार घुमाकर शिव जी का आह्वान करते हुए संतान प्राप्ति के लिए प्रार्थना करें। फिर उस आंकड़े की जड़ को किसी लाल कपड़े में बांधकर महिला की कमर पर बांध दें। इस उपाय से शिवजी चाहेंगे तो जल्द ही गोद भर जाएगी।
 
21. यदि बहुत सारा कर्ज है तो वट्केश्वर महादेव का नाम लें और थोड़े दिन तक वट वृक्ष के नीचे एक लोटा जल अर्पित करते रहें। धीरे धीरे कर्ज से जुड़ी सारी परेशानियां आपकी दूर हो जाएंगी।
 
22. नजर दोष निवारण के लिए शिवरात्रि के दिन 12 कांटे वाला धतूरा लेकर इसको शिवलिंग पर सात बार फेरते हुए 'ओम नमः: शिवाय' मंत्र का जाप करें। इसके बाद धतूरे को दुसरे दिन जिस जगह नजर लगी हैं। उस जगह पर लाल कपडे में बांधकर लटका दें। इससे नजर दोष दूर हो जाएगा।
 
23. यदि आर्थिक तंगी से परेशान हैं तो बेलपत्र पर लाल चंदन लगाकर शिवलिंग पर चढ़ा दें। इससे माता लक्ष्मी भी प्रसन्न होती हैं और उनके आशीर्वाद कभी भी आर्थिक तंगी नहीं होगी।
 
24. गंभीर रोग से मुक्ति के लिए शिवरात्रि के दिन या सावन मास के सोमवार पर गोबरी को जलाकर राख कर दें। अब गोबरी की राख और गंगाजल को मिश्रित करके एक लेप जैसा तैयार करें। अब इसे रोगी के शरीर पर लगाएं। इससे रोग में फायदा होगा।
 
25. यदि आपके सामने कोई बहुत बड़ी समस्या कर खड़ी हो जाए और उसका कोई हल नजर न आए तो शिव मंदिर के पास बेलपत्र का पेड़ ढूंढिए उस बेलपत्र के पेड़ के नीचे एक मूंग का दाना या एक चावल और साथ ही वहां पर जो भी एक कंकड़ रखा हो उसे भगवान शिव का स्वरूप मानकर लोटा भर जल अर्पित करें। जल अर्पित करने के बाद आप अपनी समस्या शिवजी के समक्ष रख दें। आपकी समस्या का जल्द ही निवारण होगा।
 
अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष, इतिहास, पुराण आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं, जो विभिन्न सोर्स से लिए जाते हैं। इनसे संबंधित सत्यता की पुष्टि वेबदुनिया नहीं करता है। सेहत या ज्योतिष संबंधी किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।