वर्ष 2019 में कन्या राशि को कितना होगा लाभ, कितनी होगी हानि, जानिए विस्तार से

Kanya-rashi 2019

कन्या राशि- 2019

जिन जातकों के जन्म के समय चंद्रमा कन्या राशि में स्थित होता है, उनकी कन्या राशि होती है। कन्या राशि का स्वामी बुध है। बुध को नवग्रहों में राजकुमार माना जाता है।

वर्ष 2019 के आरंभ में बुध वृश्चिक राशि में स्थित है। इसके फलस्वरूप कन्या राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष मिश्रित फलदायक रहेगा।

वर्षारंभ में गुरु के साथ युतिकारक होने के फलस्वरूप कन्या राशि के जातकों को अपने कार्य सिद्ध करने के लिए अथक परिश्रम व संघर्ष नहीं करना पड़ेगा किंतु जैसे-जैसे वर्ष बीतेगा उनके कार्यों को सिद्ध होने में विलंब होने लगेगा। उन्हें अपेक्षित सफलता व लाभ प्राप्त नहीं होगा। यह विलंब उनके लिए मानसिक परेशानी का कारण बनेगा।
आर्थिक क्षेत्र- यह वर्ष कन्या राशि के जातकों के लिए आर्थिक रूप से बहुत ही अनुकूल व फलदायक होगा। उनकी आय में अतीव वृद्धि होगी एवं वे धन संचय करने में भी सफल होंगे। यदि कन्या राशि के जातक निवेश योजनाओं में अपना धन निवेश करने का सोच रहे हैं तो यह वर्ष उनके लिए एक बेहतरीन अवसर में रूप में सिद्ध होगा। इस वर्ष किया गया निवेश उन्हें भविष्य में आशातीत लाभ देगा। धनसंचय की दृष्टि से यह वर्ष कन्या राशि के जातकों के लिए उत्तम रहेगा किंतु उनकी आय में अचानक अवरोध आने के भी संकेत है। अत: आर्थिक क्षेत्र में जोखिम लेने से बचना श्रेयस्कर रहेगा।

आजीविका- कन्या राशि के जातकों के लिए कर्मक्षेत्र की दृष्टि से यह वर्ष सामान्य होगा। उन्हें अपने कर्मक्षेत्र में किए गए परिश्रम की अपेक्षा कम लाभ प्राप्त होगा। विशेषकर पत्रकारिता, वक्ता, शिक्षक, साहूकार, बैंकिंग क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों को इस वर्ष कर्मक्षेत्र में कठिन संघर्ष व अवरोध होने के संकेत हैं। बेरोजगारों को अच्छी आजीविका प्राप्त होने में कड़ा परिश्रम करना होगा। बेरोजगार वर्ग को आजीविका प्राप्ति में विलंब होगा। व्यापारी वर्ग को अपने व्यापार में अपेक्षित लाभ नहीं होगा। किताब-कॉपी, गारमेंट्स, एजेंसी का कारोबार करने वाले व्यापारियों में अपने व्यापार में हानि होने के संकेत हैं। उन्हें अपना व्यापार परिवर्तित करना पड़ सकता है।

स्वास्थ्य- स्वास्थ्य की दृष्टि से कन्या राशि के जातकों के लिए यह वर्ष सामान्य रहेगा। उनका स्वास्थ्य नरम-गरम रहेगा। वर्षारंभ में उन्हें हृदय संबंधी परेशानियों के कारण थोड़ी परेशानी होगी। इस वर्ष कन्या राशि के जातक मानसिक अवसाद (डिप्रेशन), सिरदर्द व अनिद्रा के कारण परेशान रहेंगे। कन्या राशि के जातकों के लिए बेहतर होगा कि वे मस्तिष्क व हृदय संबंधी रोगों को नजरअंदाज न करें।

दांपत्य- कन्या राशि के जातकों के लिए दांपत्य की दृष्टि से यह वर्ष मिश्रित फलदायक रहेगा। इस वर्ष उनका दांपत्य जीवन सामान्य रहेगा। उन्हें शैया सुख प्राप्त होगा। उन्हें अपने जीवनसाथी का प्रेम व स्नेह प्राप्त होगा। उनके प्रेम संबंध में सफल होंगे। उनके अपने जीवनसाथी से आंशिक मतभेद होने की संभावना है। उनके जीवनसाथी का स्वास्थ्य का स्वास्थ्य कुछ नरम-गरम रहेगा। इस वर्ष परिस्थितिवश वे अपने जीवनसाथी से दूर निवास कर सकते हैं।

भूमि-भवन-वाहन : कन्या राशि के जातकों को इस वर्ष वाहन से हानि होने की संभावना है। अत: उन्हें वाहन दुर्घटनाओं के प्रति सावधान रहना आवश्यक है। इस वर्ष कन्या राशि के जातकों के स्वयं के घर का सपना पूर्ण होने की प्रबल संभावना है। उन्हें भूमि आदि से भी लाभ होने के संकेत हैं।

वार्षिक लाभ-हानि अनुपात : लाभ- 14, हानि- 11।

(विशेष : उपर्युक्त फलित चंद्र राशि एवं ग्रह गोचर पर आधारित है। जन्म पत्रिका की ग्रह स्थितियों एवं विंशोत्तरी दशाओं के अनुसार इसमें परिवर्तन संभव है।)

-ज्योतिर्विद् पं. हेमन्त रिछारिया
प्रारब्ध ज्योतिष परामर्श केंद्र
संपर्क: [email protected]




और भी पढ़ें :