परीक्षा में सफलता और करियर में प्रगति के लिए वसंत पंचमी के दिन बोले यह सरस्वती मंत्र

Saraswati mantr
इस वर्ष 5 फरवरी 2022, शनिवार को वसंत पंचमी (vasant panchami 2022) है। यह दिन देवी सरस्वती की आराधना के लिए बहुत ही महत्व रखता है। इस दिन परीक्षा में सफलता और करियर में प्रगति की चाहत रखने वालों के लिए वसंत पंचमी के दिन विद्यार्थियों और युवाओं को इस मंत्र (saraswati mantra) की 5 माला का जाप करने से मां सरस्वती साक्षात प्रसन्न हो जाती हैं और साधक को धन, ज्ञान तथा विद्या का लाभ प्राप्त होना शुरू हो जाता है।


वसंत पंचमी मां सरस्वती को प्रसन्न करने का दिन है। वीणावादिनी मां सरस्वती (शारदा) का स्वरूप जितना सौम्य है, उतने ही उनके लिए जपे जाने वाले मंत्र दिव्य हैं। इस दिन निम्न मंत्रों को पूर्ण श्रद्धापूर्वक पढ़ने से बल, विद्या, बुद्धि, तेज और ज्ञान की प्राप्ति होती है। परीक्षा के निरंतर अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए विद्यार्थियों को ध्यान करने के लिए त्राटक अवश्य करना चाहिए। 10 मिनट रोज त्राटक करने से स्मरण शक्ति बढ़ती है। एक बार अध्ययन करने से यह मंत्र कंठस्थ हो जाता है।

पढ़ें मंत्र- (Chant)

- सरस्वती गायत्री मंत्र : 'ॐ वागदैव्यै च विद्महे कामराजाय धीमहि। तन्नो देवी प्रचोदयात्‌।'

- शारदायै नमस्तुभ्यं मम ह्रदये प्रवेशिनी, परीक्षायां उत्तीर्णं, सर्व विषय नाम यथा।

- 'ॐ शारदा माता ईश्वरी मैं नित सुमरि तोय हाथ जोड़ अरजी करूं विद्या वर दे मोय।'
- ॐ ह्रीं ऐं ह्रीं सरस्वत्यै नमः।

- 'ऎं ह्रीं श्रीं वाग्वादिनी सरस्वती देवी मम जिव्हायां। सर्व विद्यां देही दापय-दापय स्वाहा।'

- 'सरस्वत्यै नमो नित्यं भद्रकाल्यै नमो नम:।
वेद वेदान्त वेदांग विद्यास्थानेभ्य एव च।।
सरस्वति महाभागे विद्ये कमललोचने।
विद्यारूपे विशालाक्षी विद्यां देहि नमोस्तुते।।'

- नमस्ते शारदे देवी, काश्मी‍रपुर वासिनीं, त्वामहं प्रार्थये नित्यं, विद्या दानं च देहि में,

Saraswati Worship



और भी पढ़ें :