प्राचीन रोमन त्योहार 'लूपरकेलिया' कहीं आज का वेलेंटाइन डे पर्व तो नहीं, पढ़ें रोचक जानकारी

Valentines Day 2020
Valentine Day

जानिए पहले किस नाम से मनाया जाता था रोमन उत्सवों और रस्मों का चलन। आज हम जिसे वेलेंटाइन डे के नाम से जानते हैं उसका इतिहास कुछ और ही कहानी बयां करता है। आइए पढ़ें रोचक जानकारी...
* वेलेंटाइन-डे का मूल रूप 'लूपरकेलिया' से भी माना जाता है।

* प्राचीन रोम में 14 फरवरी को भेड़ियों से रक्षा के लिए 'लूपरकेलिया' उत्सव मनाया जाता था।

* इस उत्सव में युवतियां लोगों को पशुओं की खाल से पीटती थीं, वहीं महिलाओं में यह विश्वास था कि इस पिटाई से उर्वरता बढ़ती है।

* अंगरेजों का काव्यात्मक मिथक है कि 14 फरवरी को चिड़िया जोड़े बनाती है।

* वेलेंटाइन-डे पर प्रेमी-प्रेमिकाओं के युगल होने का जिक्र अंगरेज कवि ज्यॉफ्री चाऊसर की कविता में मिलता है।

* रोमन सेना ने 43 ईस्वी पूर्व में ब्रिटेन पर चढ़ाई की और ब्रिटिश समाज में रोमन उत्सवों और रस्मों का चलन बढ़ा।
* कई विद्वान 'लूपरकेलिया' उत्सव को वेलेंटाइन-डे के साथ जोड़ते हैं। उनकी आस्था और तिथियों की समानता भी यही संकेत देती है।



और भी पढ़ें :