1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. cold storage roof collapses in UP, 8 dies
Written By
Last Updated : शुक्रवार, 17 मार्च 2023 (20:50 IST)

यूपी के संभल में कोल्ड स्टोरेज के चेंबर की छत ढही, 14 लोगों की मौत, जांच समिति गठित

संभल/लखनऊ (उत्तर प्रदेश)। संभल जिले के चंदौसी थाना क्षेत्र में एक निजी कोल्ड स्टोरेज के चेंबर की छत ढहने से मलबे में दबकर मरने वालों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 14 हो गई। जिला प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।

संभल के जिलाधिकारी मनीष बंसल ने शुक्रवार को बताया कि घटना में अभी तक 14 लोगों की मौत हुई है जबकि 10 लोगों को सुरक्षित बचाया गया है। उन्होंने बताया कि अभी भी मलबा उठाया जा रहा है और सारा मलबा हटाने के बाद ही राहत कार्य पूरा होगा।

इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे में मारे गए प्रत्येक व्यक्ति के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की अनुग्रह राशि और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है। उन्होंने हादसे में घायल लोगों को नि:शुल्क इलाज उपलब्ध कराने को भी कहा है। उन्होंने घटना के कारणों की जांच के लिए एक समिति भी गठित की है।

जिलाधिकारी बंसल ने बताया, चंदौसी थाना क्षेत्र के मई गांव में इस्लाम नगर मार्ग पर स्थित एक निजी कोल्ड स्टोरेज के चेंबर की छत गुरुवार को अचानक ढह गई। इस घटना में अब तक 14 लोगों की मौत हुई है।

सरकारी प्रवक्ता ने लखनऊ में बताया, मुख्यमंत्री ने संभागीय आयुक्त और डीआईजी (पुलिस उप महानिरीक्षक), मुरादाबाद के नेतृत्व में एक जांच समिति भी गठित की है, जो कोल्ड स्टोरेज ढहने के कारणों की जांच करेगी और जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपेगी। बंसल ने बताया कि मलबे में से कांक्रीट और बाकी चीजें हटा ली गई हैं, अब आलू के बोरे हटाए जा रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा ने कहा कि हादसे के शिकार कुछ अन्य लोगों के भी मलबे में दबे होने की आशंका है। उन्होंने बताया कि कोल्ड स्टोरेज में राहत एवं बचाव कार्य अब भी जारी है। संभल के जिलाधिकारी बंसल ने बताया कि मुरादाबाद के एक अस्पताल में घायलों का इलाज जारी है, जबकि 6 अन्य घायलों को चिकित्सकीय उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है।

डीआईजी माथुर ने इसके पहले बताया था कि कोल्ड स्टोरेज के मालिक अंकुर अग्रवाल और रोहित अग्रवाल के खिलाफ गैर इरादतन हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा था कि अंकुर और रोहित घटना के बाद से फरार हैं और दोनों की गिरफ्तारी के लिए स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप की टीम लगाई गई है।

माथुर ने कहा था कि प्रशासनिक प्रक्रिया के तहत मामले की मजिस्ट्रेट से जांच कराई जाएगी। पुलिस के अनुसार, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और पुलिस की टीमें राहत एवं बचाव कार्यों में जुटी हुई हैं। इस बीच पुलिस अधीक्षक ने मृतकों और घायलों की सूची भी जारी की है।

मृतकों की पहचान संभल जिले के रोहताश (28), सतीश (26), सूरजपाल पुत्र नंदराम (30), प्रमोद (28) और भूरे (32) सभी निवासी एतौल तथा प्रेम (45), शिशुपाल (28), राजकुमार (28), सूरजपाल पुत्र छत्रपाल (30) और रामवीर (28) सभी निवासी कैथल, राकेश (30) निवासी बर्रई, इश्तियाक (32) निवासी मई के रूप में हुई है। इसके अलावा मृतकों की सूची में बदायूं जिले के ग्राम बझेड़ा निवासी सोमपाल (45) और एत्‍मादपुर निवासी दिलशाद (35) का भी नाम शामिल है। फोटो सौजन्‍य : टि्वटर
Edited By : Chetan Gour (भाषा)