1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. काम की बात
  4. how google map earn money
Written By

कैसे होती है Google Map की income?

how google map make money
how google map earn money
क्या आप भी ड्राइविंग करते समय गूगल मैप का इस्तेमाल करते हैं? आज के समय में हमारे सफर का साथी गूगल मैप (google map) ही है। अगर आपको कोई होटल, हॉस्टल, कैफ़े या किसी का घर ढूढ़ना है तो आप गूगल मैप से आसानी से ढूंढ सकते हैं। बढ़ती टेक्नोलॉजी के साथ गूगल मैप भी काफी एडवांस होता जा रहा है। गूगल मैप की शुरुआत 2004 में C++ प्रोग्राम के ज़रिए हुई थी। आज के समय में जोमैटो और उबर जैसी कई बड़ी कंपनियां गूगल मैप का प्रयोग करती हैं। पर क्या आपने कभी सोचा है कि गूगल मैप पैसे कैसे कमाता है? साथ ही गूगल मैप काम कैसे करता है? चलिए इस आर्टिकल के ज़रिए जानते हैं पूरी जानकारी...

कैसे काम करता है गूगल मैप?
गूगल मैप को 154 मिलियन से ज़्यादा लोग यूज़ करते हैं। गूगल मैप 5 तरीकों से अपना डाटा कलेक्ट करता है। चलिए जानते हैं इन 5 तरीकों के बारे में........

1. भूवैज्ञानिक मैप के लिए बेस मैप पार्टनर : बेस मैप पार्टनर (base map partner) सरकारी संस्था से भूवैज्ञानिक मैप का डाटा कलेक्ट करता है। इन संस्था में वन विभाग, रेल विभाग, भूवैज्ञानिक विभाग जैसे कई विभाग मौजूद होते हैं।

2. एरियल व्यू के लिए इमेज पार्टनर : गूगल मैप पर एरियल व्यू इमेज के लिए इमेज पार्टनर (image partner) होते हैं। ये पार्टनर गूगल को हाई क्वालिटी वाली इमेज प्रदान करते हैं। ये इमेज सेटेलाइट या एयरक्राफ्ट से ली जाती हैं।

3. ट्रांजिट पार्टनर : ट्रांजिट पार्टनर, सरकारी यातायात की सुचना देता है। साथ ही एजेंसी के साथ मिलकर यातायात की अपडेट भी प्रदान करता है। इसमें बस, रेल, स्टॉप और कई रास्ते शामिल होते हैं।

4. मोबाइल के ज़रिए सुचना : गूगल मैप हमारी लोकेशन के डाटा को कलेक्ट करता है। GPS के कारण गूगल मैप ट्रैफिक और शॉर्ट कट जैसी सुचना प्रदान करता है। इसके साथ ही कई यूजर अपनी सुचना गूगल मैप को प्रदान करते हैं।

5. बिज़नेस : अगर आप कैफ़े, रेस्टोरेंट, क्लिनिक, सुपर मार्ट जैसे लोकेशन देखते हैं तो ये लोकेशन बिज़नेस ओनर द्वारा प्रदान की जाती हैं। गूगल में अपने बिज़नेस की जानकारी डालने के लिए Google Mybusiness पर इनफार्मेशन देनी होती है।
how google map earn money

कैसे होती है गूगल मैप की इनकम?
गूगल मैप अपनी सर्विस के ज़रिए पैसे कमाता है। गूगल मैप अपनी सर्विस बिज़नेस को देता है। गूगल मैप की इनकम भी 2 प्रकार से होती है।

1. विज्ञापन : जब भी आप किसी प्रकार की लोकेशन को सर्च करते हैं तो आपको निचे top search या top place का विकल्प दिखता है। इस विकल्प में कुछ फेमस जगह मेंशन होती हैं। दरअसल कई बिज़नेस गूगल मैप को अपनी लोकेशन पिन करने के लिए पैसे देते हैं। प्रमोशन के कारण गूगल मैप इन लोकेशन को टॉप सर्च में दिखाता है।

2. Google Map API : आप अक्सर जोमैटो, रपिडो, उबर जैसी एप पर गूगल मैप की तरह ही लोकेशन देकते होंगे। दरअसल ये मैप इन एप के द्वारा नहीं बनाया गया है। ये मैप भी गूगल मैप होता है। Google Map API की मदद से दूसरी एप अपना मैप कस्टमाइज़ कर सकती हैं। इस API को खरीदने के लिए भी पैसे देने पड़ते हैं।

इसके साथ ही गूगल मैप ने कई बिज़नेस से पार्टनरशिप की हुई है। अगर आप लोकेशन सर्च करेंगे तो आपको कैब का ऑप्शन दिखेगा। इस ऑप्शन में उबर आएगा जिसकी मदद से आप कैब बुक कर सकते हैं।
ये भी पढ़ें
Mig-29K लड़ाकू विमान INS विक्रांत पर रात में पहली बार उतरा