FASTag ऐसे आसानी से आपको मिल सकता है Free, जानिए हर सवाल का जवाब

Last Updated: मंगलवार, 23 फ़रवरी 2021 (17:42 IST)
नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (- NHAI) ने 1 मार्च 2021 तक फ्री फास्टैग (Free FASTag) देने की घोषणा की है। पहले इसे लगाने के लिए 100 रुपए चार्ज लगता था। यह सुविधा 770 टोल प्लाजा में शुरू की गई है। इसका उदेश्य ज्यादा से ज्यादा वाहन मालिकों को खरीदने के लिए प्रेरित करना है।
नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के मुताबिक FASTag 87 प्रतिशत जगहों में लग गया है। केवल 2 दिन में 7 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। इसमें 100 से अधिक टोल प्लाजा में 90 प्रतिशत तक कैश लेस हो गए हैं। 17 फरवरी 2021 तक FASTag के जरिए टोल प्लाजा में 60 लाख लेन-देन हुए हैं। इनके जरिए 95 करोड़ से ज्यादा की कमाई हुई है।

40 हजार से ज्यादा बूथ : NHAI ने फास्टैग को रीचार्ज करने के लिए देशभर में 40, 000 से ज्यादा बूथ बनाए हैं। इसके अतिरिक्त इसे कई ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स से भी रीचार्ज किया जा सकता है। आप SBI, ICICI, HDFC बैंक, एक्सिस बैंक, पेटीएम के जरिए भी आप फास्टैग खरीद सकते हैं। हाइवे में चलने वाले लोगों के लिए My FASTag App लॉन्च किया गया है। इसके जरिए यूजर्स अपने FASTag का बैलेंस चेक किया जा सकता है।
FASTag वॉलेट की निम्नतम सीमा (threshold limit) को खत्म करने का फैसला किया है। अगर फास्टैग वॉलेट का बैलेंस नॉन-निगेटिव है तो यूजर्स को टोल प्लाजा पर रोका नहीं जाएगा। NHAI ने अपने एक बयान में कहा है कि पिछले 2 दिनों में 2.5 लाख की रिकॉर्ड सेलिंग के साथ हाइवे यूजर्स से 100 प्रतिशत कैशलेस टोलिंग को जोरदार सपोर्ट मिला है।

क्या है FASTag
यह टोल टैक्स लेने का डिजिटल माध्यम है जो स्टिकर के रूप में होता है। जब आप चारपहिया वाहन लेकर टोल प्लाजा से गुजरेंगे तो फास्टैग रीडर आपके फास्टैग का बारकोड पढ़ लेगा और रुपए बैंक खाते से कट जाएंगे।
क्या निजी वाहनों पर इसमें कोई छूट मिलेगी
निजी कार को फास्टैग से कोई छूट नहीं है। यह नहीं होने पर दोगुना जुर्माना देना होगा।

फास्टैग खराब या गुम होने पर क्या होगा?
एक गाड़ी के लिए केवल एक फास्टैग नंबर जारी होता है, जिसमें रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, टैग आईडी समेत अन्य जानकारियां जमा करनी होती हैं। अपने वाहन का पूरा ब्योरा देकर इसे दोबारा जारी करवाया जा सकता है।
FASTag को बैंक खाते से जोड़ने पर क्या फायदा होगा?
इसे आप अपने बैंक खाते से जोड़ सकते हैं। इससे बार-बार रिचार्ज कराने की परेशानी से मुक्ति मिल जाएगी। टोल प्लाजा पार करने पर खाते से पैसे खुद कट जाएंगे।

फर्जी से सावधान!
बाजार में कई फर्जी फास्टैग भी बेचे जा रहे हैं, ऐसे में आपको इनका ध्यान रखना होगा। NHAI ने भी अलर्ट जारी किया है। एनएचएआई ने फेक फास्टैग को लेकर अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर एक पब्लिक नोटिस शेयर किया है। इसमें बताया है कि किस तरह से फास्टैग बेचे जा रहे हैं और फास्टैग खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। एनएचएआई ने जानकारी दी है कि NHAI या IHMCL के नाम पर फेक फास्टैग बेचे जा रहे हैं। नोटिस में लिखा गया है, ‘फ्रॉडस्टर्स NHAI/IHMCLके मिलते जुलते नाम से फास्टैग बेच रहे हैं। वैध ऑनलाइन फास्टैग सिर्फ www.ihmcl.co.in या MyFASTag App की वेबसाइट के जरिए खरीदे जा सकते हैं। इसके अलावा ग्राहक फास्टैग बैंक और आधिकृत पीओएस, बैंक वेबसाइट से खरीद सकते हैं। कई वेबसाइट की जानकारी IHMCL की वेबसाइट पर दी गई है।
यहां कर सकते हैं शिकायत
NHAI ने अपनी वेबसाइट पर जानकारी दी है कि कोई भी अनजान जगह से ऑनलाइन ऑर्डर न करें। ऐसी ही कोई भी घटना सामने आने पर NHAI की हेल्पलाइन 1033 पर ऑनलाइन पर संपर्क करें या [email protected] पर मेल करके जानकारी दे सकते हैं।



और भी पढ़ें :