सिंधू का अपने पहले खिताब का सपना यामागुची के हाथों हार के साथ ही टूटा

पुनः संशोधित रविवार, 21 जुलाई 2019 (16:26 IST)
जकार्ता। 5वीं सीड भारत की पीवी सिंधू का 2019 में अपने पहले खिताब का सपना के फाइनल में रविवार को चौथी सीड जापान की अकाने यामागुची के हाथों 15-21, 16-21 की के साथ टूट गया।
सिंधू का इस साल का यह पहला फाइनल था। उन्होंने पिछले साल के आखिर में वर्ल्ड टूर फाइनल में खिताब जीता था। उसके लगभग 8 महीने बाद जाकर उनका यह पहला फाइनल था लेकिन वे आखिरी बाधा नहीं पार कर सकीं।

सिंधू का विश्व रैंकिंग में चौथे नंबर की खिलाड़ी यामागुची के खिलाफ 10-4 का बेहतरीन रिकॉर्ड था। सिंधू ने यामागुची से अपने पिछले 4 मुकाबले लगातार जीते थे। उन्होंने आखिरी बार यामागुची को वर्ल्ड टूर फाइनल्स में हराया था। लेकिन यहां खिताबी मुकाबले में उन्होंने 51 मिनट में घुटने तक दिए।
भारतीय खिलाड़ी 2019 में इससे पहले इंडिया ओपन और सिंगापुर ओपन के सेमीफाइनल में पहुंची थीं और यह उनका पहला फाइनल था। सिंधू इस साल इंडोनेशिया मास्टर्स के क्वार्टर फाइनल, ऑल इंग्लैंड के पहले राउंड, इंडिया ओपन के सेमीफाइनल, मलेशिया ओपन के दूसरे दौर, सिंगापुर ओपन के सेमीफाइनल, एशियाई चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल और ऑस्ट्रेलियन ओपन के दूसरे दौर में बाहर हुई थीं।

यहां फाइनल में सिंधू से काफी उम्मीदें थीं लेकिन उन्होंने इन उम्मीदों को तोड़ दिया। इस हार के बाद सिंधू का यामागुची के खिलाफ 10-5 का रिकॉर्ड हो गया है। पहले गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच बराबरी का मुकाबला हुआ और सिंधू के पास 14-12 की बढ़त थी। लेकिन यामागुची ने लगातार 8 अंक लेकर 20-14 की बढ़त बनाई और 21-15 पर पहला गेम समाप्त कर दिया।
जापानी खिलाड़ी ने दूसरे गेम में 4-4 की बराबरी के बाद बढ़त बनाने का सिलसिला जो शुरू किया, वह 21-16 से गेम तथा मैच जीतने के साथ ही थमा। यामागुची ने दूसरे गेम में सिंधू को अपने पास आने का कोई मौका नहीं दिया। इस हार से सिंधू का 8 महीने से अपने पहले खिताब का इंतजार बढ़ गया है। (वार्ता)

 

और भी पढ़ें :