संस्कृत के लिए इंदौर में 6240 घरों में संपर्क

इन्दौर। संस्कृत भाषा का प्रचार प्रसार करने के उद्देश्य से पूरे इन्दौर महानगर में ‘संस्कृत भारती’ द्वारा 23 अगस्त को सम्पूर्ण देश में प्रात: 8 बजे से शाम 6 बजे तक गृहं गृहं संस्कृतम चलाया गया।
इस दौरान घर घर में संपर्क कर संस्कृत भाषा का प्रचार प्रसार किया गया। साथ ही ‘वदतु संस्कृतम’ नामक पुस्तक मात्र 5 रुपए के शुल्क पर आमजनों को देकर संस्कृत पढ़ने का निवेदन किया गया। इस दौरान शहर में 143 कार्यकर्ताओं ने 59 टोलियाँ बनाकर 6240 घरों में संपर्क किया और 5255 वदतु संस्कृतम पुस्तक का विक्रय किया गया।
 
संस्कृत भारती के मालवा प्रांत सचिव योगेश भोपे तथा इन्दौर महानगर के संयोजक अभिषेक पांडेय ने बताया कि गृहं गृहं संस्कृतम अभियान के लिए इन्दौर महानगर में करीब 143 कार्यकर्ताओं के माध्यम से संस्कृत भाषा का महत्व बताते हुए घर-घर संपर्क कर संस्कृत भाषा का प्रचार प्रसार किया गया।
 
इसमें लगभग 10 हजार घरों पर संपर्क करने की योजना बनाई गई थी, जिसके अनुपात में शहर में 143 कार्यकर्ताओं ने 59 टोलियाँ बनाकर 6240 घरों में संपर्क किया और 5255 वदतु संस्कृतम पुस्तक का विक्रय किया गया। विभिन्न स्थानों पर चले इस अभियान की प्रांत सचिव योगेश भोपे, सुरेंद्र शर्मा, लखन पाठक, गजानन प्रजापति, लोकेश जोशी आदि प्रमुख रूप से मानिटरिंग की। 
 



और भी पढ़ें :