ब्रह्मांड में कौन किससे बड़ी शक्ति है?

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
ब्रह्म और : ब्रह्म और ईश्वर में भेद है, लेकिन यह दोनों ही है परमात्मा का स्वरूप। हम इस भेद में नहीं जाकर सीधे से समझें। ब्रह्म को प्रणव, सच्चिदानंद, परब्रह्म, ईश्वर, परमेश्वर और परमात्मा कह सकते हैं। यह परम सत्ता है।
वेद और पुराणों अनुसार इस परमसत्ता के कारण ही और आत्मा का जगत विद्यमान है। जिस तरह सूर्य के कारण ही सभी ग्रहों आदि का अस्तित्व है उसी तरह संपूर्ण ब्रह्मांड का उस एक परमेश्वर के कारण ही अस्तित्व है। 
>



और भी पढ़ें :