खुशियां चाहिए तो नए साल में इन 8 तरह के लोगों से दूर रहें

positive Soch
नया साल (New Year) या नववर्ष 2022 (Happy New Year) का आगाज हो चुका है। यह साल विश्व के सभी लोगों के लिए सुख-शांति, संपत्ति, शालीनता, संयम, सकारात्मकता, समृद्धि, सफलता, यश और अच्छे स्वास्थ्य (Healthy) का वरदान दे, यही मंगल कामना है। यहां जानिए अगर में आपको खुशियां चाहिए तो कि 8 तरह के लोगों से दूरी बनाए रखें ताकि आपका साल शुभ और खुशियोंभरा रहे।


1. नए साल में आप स्वस्थ और मस्त रहें, इसके लिए सबसे पहले यह जरूरी है कि आप अपने विचारों से नकारात्मकता को दूर भगाएं और सकारात्मकता को अपनाएं। अगर आपके आसपास ही कुछ इस तरह के लोग यानी नकारात्मक विचारों के हैं तो उन्हें सकारात्मक विचारों को पढ़ने अथवा जीवन में अपनाने के लिए कहें। अगर यह संभव नहीं हैं तो आप उनसे कुछ समयावधि के लिए दूरी बना लें।

2. अभी पिछले कुछ सालों से महामारी (Pandemic) का दौर चल रहा हैं, ऐसे में कई लोगों ने अपनों को खोया होगा, कई लोगों के परिवारजन उस महामारी के शिकार भी हुए होंगे। ऐसे समय में आप धैर्य बनाए रखें तथा धैर्य के साथ हर परिस्थिति का सामना करें। खासकर अगर आप किसी ऑफिस (Office) में या कार्यक्षेत्र में हैं और अगर कुछ समय के लिए आप ऑफिस का काम कुछ कम कर पा रहे हैं तो ऐसे समय में किसी को अपशब्द कहने या उनके काम को गिनकर उनमें गलतियां निकालने के बजाय उनका हौसला बढ़ाएं। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसे ही लोग काम करते हैं, जो बिना कारण दूसरों की परेशानी बढ़ाते रहते हैं तो कृपया उनसे दूरी बनाए रखें।
3. या रिश्तेदारों (relatives) में भी रोजाना कितनी ही बार ऐसे लोगों से सामना हो जाता है, जो किसी-न-किसी कारणवश आपको परेशान करते रहते हैं। ऐसे समय में आप नववर्ष पर यह संकल्प लें और उनसे जितना ज्यादा हो सके, दूर रहने की कोशिश करें या उनकी बातों पर ध्यान देना बंद कर दें ताकि आपको मानसिक टेंशन से राहत मिले।

4. अगर आप किसी की कार्यक्षेत्र में कार्यरत हैं तो ऐसे लोगों से दूरी बनाए रखें, जो बॉस के सामने आपको गलत तरीके से पेश करके उनकी विचारधारा बदल देते हैं। ऐसे समय में बॉस को आप खटकने लगते हैं। उक्त व्यक्ति की बात उन्हें सही और आपकी हर बात या हर काम गलत दिखाई देने लगता है।

5. वर्तमान समय में काम को लेकर सोच भी बदल गई है। ऐसे समय में जो व्यक्ति हमेशा दूसरे के कामों को कम ही आंकता है और हर जगह 'मैं-मैं' या अपने काम को हमेशा सर्वश्रेष्‍ठ बताता है, ऐसे लोगों से भी दूर रहें, क्योंकि ऐसे व्यक्ति किसी का भी अहित कर सकते हैं।

6. परिवार हो कार्यक्षेत्र, हमेशा शालीनता से ही पेश आएं व संयम बनाए रखें। और जब बात हद से ज्यादा बढ़े तभी सामने वाले को उसकी बात का जवाब दें और जहां तक हो सके, ऐसे लोगों से, जो कि हर वक्त दूसरों को सुनाते रहते हैं, उनसे जरूरत हो उतना ही संवाद करें ताकि माहौल गरिमामय बना रहे।

7. अगर आपको सामाजिक स्तर भी मान-सम्मान नहीं मिल रहा है तो घबराएं नहीं, क्योंकि वहां भी ऐसे कुछ-न-कुछ चापलूस व्यक्ति जरूर होंगे, जो आपको नीचा दिखाना चाहते हैं। ऐसे लोगों से जहां तक संभव हो, दूर ही रहें और उनसे बहुत अधिक आवश्यकता हो तो ही बातचीत करें।

8. अगर आप किसी भी क्षेत्र में बड़े या वरिष्ठ पद पर कार्यरत हैं, तो अपने किसी भी सहयोगी या साथी के द्वारा अपने कार्य की बढ़ाई तथा दूसरे के कार्य को कम आंककर बताया जा रहा है तो हो सकता है कि सामने वाला व्यक्ति आपको भ्रमित कर रहा हो। ऐसे समय में हमेशा अपने विवेक से उस बात पर विचार करते हुए ही कोई भी निर्णय लें, क्योंकि जैसे 'अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता है', वैसे ही हर कार्य के लिए या परिवार को चलाने के लिए टीम वर्क जरूरी होता है। अत: हमेशा सबको साथ लेकर चलने की सोचें, फिर ही निर्णय लें।




और भी पढ़ें :