मंगलवार, 31 जनवरी 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. landslides and rain in Uttarakhand
Written By निष्ठा पांडे
Last Updated: शनिवार, 28 अगस्त 2021 (13:27 IST)

Uttarakhand में बारिश से हाहाकार, नैनीताल-हल्द्वानी हाइवे में भू-स्खलन से ट्रैफिक रुका, मौसम विभाग ने जारी किया Yellow Alert

नैनीताल। नैनीताल-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग दो गांव के नजदीक एक निजी स्कूल के पास पहाड़ी दरकने से सड़क पर आए मलबे के कारण  अवरुद्ध हो चला है। उधर, आधी रात के बाद नैनीताल में ठंडी सड़क पर पहाड़ से एक बड़ा बोल्डर आ गिरा। रात का वक्त होने के कारण इस घटना में केई हताहत नहीं हुआ। अलबत्ता पास का ही एक बिजली का पोल इसकी जद में आ गया।
 
बोल्डर गिरने की घटना सुबह लगभग पौने तीन बजे के आसपास की है। बड़ा बोल्डर राजभवन रोड से ठंडी सड़क पर आया है। अत्याधिक बारिश के कारण नैनीताल हल्द्वानी हाईवे में डॉन बॉस्को स्कूल के पास सड़क का बड़ा हिस्सा भूस्खलन की चपेट में आने से क्षतिग्रस्त हो गया है। इस घटना के बाद नैनीताल हल्द्वानी मार्ग पर यातायात रोक दिया गया है। नैनीताल पुलिस के मीडिया सेल द्वारा दी गई जानकारी में कहा गया है कि रोड पूर्ण रूप से खुलने तक वाहनों को उक्त मार्ग से आवागमन न करें। 
 
भारी बारिश की चेतावनी : उत्तराखंड में आसमान से आफत की बारिश अगले तीन दिन और जारी रहेगी। देहरादून स्थित मौसम विज्ञान केन्द्र ने अगले तीन दिन भारी बारिश जारी रहने की चेतावनी दी है। मौसम विभाग ने नैनीताल, पिथौरागढ़, चंपावत, बागेश्वर में अगले चौबीस घंटे में तेज बौछारों के साथ भारी बारिश का Yellow Alert जारी किया है जबकि रविवार को नैनीताल, पिथौरागढ़, चंपावत और बागेश्वर में अनेक स्थानों पर भारी बारिश का Yellow Alert जारी किया गया है। इसी तरह 30 और 31 अगस्त को राज्य के कई हिस्सों में बारिश के आसार हैं। 1 और 2 सितंबर को भी बारिश का दौर जारी रहने के आसार हैं।
मौसम केन्द्र निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार अगले दो दिन राज्य के कई जिलों में भारी बारिश का दौर जारी रहेगा और इसे लेकर Yellow Alert रहेगा। अगले 24 घंटे में देहरादून जिले में भी भारी बारिश के आसार बने हुए हैं। ऋषिकेश-देहरादून को जोड़ने वाले रानीपोखरी पुल के पीलरों का पानी के वेग के कारण कटाव होने से रानीपोखरी में जाखन नदी में बना 57 साल पुराना मोटरपुल का हिस्सा दो स्थानों पर बह गया। देहरादून की ओर से आ रही एक कार, दो लोडर और एक बाइक पुल के टूटे हिस्से के साथ सीधे नदी में पहुंच गए। मोटर पुल का हिस्सा ढहने से गढ़वाल का राजधानी देहरादून से संपर्क कट गया। 
 
प्रशासन वाहनों को नेपाली फार्म होकर देहरादून भेज रहा है। उत्तराखंड में इस समय मानसून के कारण से लगभग 200 से ज्यादा सड़कें पूरी तरह से बाधित हैं। कई नेशनल हाईवे भी जगह-जगह पर टूटे हुए हैं। पहाड़ी क्षेत्रों में अभी भी लैंडस्लाइड की घटनाएं सामने आ रही हैं।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने लोगों से अपील की है कि वे फिलहाल यहां यात्राएं न करें। सतपाल महाराज ने कहा है कि यह सब ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह से हो रहा है और ऐसे में लोगों से हम अपील कर रहे हैं कि वे कम से कम उन्हें घर से निकले और यात्राएं न करें।
ये भी पढ़ें
बीमार बेटी की ख़ुशी के लिए मां ने किया ऐसा काम… दुनिया ने कहा- मां तुझे सलाम!