Weather update : महाराष्ट्र और कर्नाटक में बाढ़ से हालात गंभीर, कई राज्‍यों में बारिश का अलर्ट

Last Updated: रविवार, 18 अक्टूबर 2020 (08:52 IST)
नई दिल्‍ली। महाराष्ट्र में बाढ़ से अब तक कई लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कर्नाटक के अनेक हिस्सों में लगातार और प्रमुख बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण बाढ़ से हालात गंभीर हो गए हैं। ने पश्चिम बंगाल, झारखंड, राजस्थान, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, हैदराबाद और गुजरात के कई हिस्सों में बारिश की संभावना जताई है।
खबरों के अनुसार, महाराष्ट्र और कर्नाटक में और बाढ़ से हालात काफी गंभीर हैं। एक तरफ जहां कर्नाटक में लगातार हो रही बारिश के बीच प्रमुख बांधों का पानी छोड़े जाने से बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है तो वहीं महाराष्ट्र में मूसलधार बारिश के बाद आई बाढ़ के कारण कई लोगों की मौत हो गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को भारी बारिश से प्रभावित महाराष्ट्र और कर्नाटक राज्य के मुख्यमंत्रियों से बात की और उन्हें राहत व बचाव कार्य में हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। भारी बारिश और बाढ़ से महाराष्ट्र में लाखों हेक्टयर क्षेत्र में बड़े पैमाने पर फसल बर्बाद हो गई है। मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों में गुजरात के कई हिस्सों में बारिश होने की संभावना जताई है। ऐसे में मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है।

इस सप्ताह की शुरुआत में हैदराबाद के कई हिस्सों में भारी बारिश और बाढ़ से मची तबाही के बाद शनिवार को फिर से महानगर के कई इलाकों में भारी बारिश दर्ज की गई और जलजमाव के कारण यातायात बाधित हो गया।
शनिवार को सुबह 8.30 बजे से रात 10 बजे तक मेडचल मल्काजगिरी जिले के सिंगापुर टाउनशिप में 157.3 मिमी और शहर के उप्पल के पास बांदलागुड़ा में 153 मिमी बारिश हुई। मौसम विभाग ने आज शहर के कुछ हिस्सों में बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है।

बीते 24 घंटे के दौरान कोलकाता सहित गंगीय पश्चिम बंगाल और जगदलपुर समेत दक्षिणी छत्तीसगढ़ में कई जगहों पर बारिश दर्ज की गई। आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, केरल, तटीय कर्नाटक, विदर्भ, अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह और लक्षद्वीप, ओडिशा, कोंकण गोवा और असम में बारिश देखने को मिली।

अगले 24 घंटों के दौरान अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह में कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। विदर्भ, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात और उत्तरी कोंकण गोवा के कुछ हिस्सों के साथ-साथ मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के कुछ क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश की उम्मीद है।
उत्तराखंड में इस साल गर्मी का मौसम लंबा खिंचता नजर आ रहा है। अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में भी तेज धूप बरकरार है और अधिकतम सामान्य से तीन से पांच डिग्री सेल्सियस ऊपर चल रहा है। आधा अक्टूबर बीत चुका है और ठंड की अभी आहट तक नहीं हुई है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो मौसम के इस असामान्य बर्ताव के लिए पश्चिमी विक्षोभ जिम्मेदार है।



और भी पढ़ें :