वीर सावरकर पर फिर 'रार', संजय राउत बोले- विरोध करने वालों को भेज दो अंडमान जेल

Sanjay Raut
पुनः संशोधित शनिवार, 18 जनवरी 2020 (14:02 IST)
मुंबई। को लेकर शिवसेना और की तल्खी एक बार फिर सामने आई है। कांग्रेस सेवादल 'वीर सावरकर कितने वीर' बुकलेट में किए गए दावे के बाद से वीर सावरकर को लेकर तरह-तरह के सामने आ रहे हैं। शिवसेना सांसद ने कहा है कि जो लोग वीर सावरकर का विरोध करते हैं उन्हें 2 दिनों के लिए अंडमान जेल भेज दो, तब उन्हें सावरकर के बलिदान का अहसास होगा।
राउत ने कहा कि जो लोग वीर सावरकर का विरोध करते हैं, वे शायद किसी भी विचारधारा या पार्टी से हो सकते हैं। उन्हें अंडमान सेलुलर जेल के सेल में सिर्फ दो दिन रहने दें, जहां सावरकर को बंधक बनाया गया था, तब उनके देश के लिए बलिदान और उनके योगदान का एहसास होगा।
Rahul Gandhi

दिल्ली में आयोजित कांग्रेस की 'भारत बचाओ रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि उनका नाम राहुल गांधी है, 'राहुल सावरकर नहीं है और वह सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगेंगे। भाजपा ने गांधी से उनके “रेप इन इंडिया” बयान के लिए माफी मांगने की मांग की थी।

राहुल के बयान पर कहा था करें सम्मान : इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था कि 'मेरा नाम राहुल सावरकर' नहीं है। इस पर संजय राउत ने कहा था कि हिन्दुत्व विचारक के प्रति श्रद्धा को लेकर कोई 'समझौता' नहीं किया जा सकता।

राउत ने कहा कि हम महात्मा गांधी और पंडित नेहरू का सम्मान करते हैं। कृपया वीर सावरकर का अपमान न करें। जो समझदार होता है उसे ज्यादा बताने कि आवश्यकता नहीं होती। महाराष्ट्र में कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी की गठबंधन सरकार है।



और भी पढ़ें :