रविवार, 1 अक्टूबर 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Student commits suicide in Kota, case registered against coaching operator
Written By
पुनः संशोधित: मंगलवार, 19 सितम्बर 2023 (23:42 IST)

कोटा में छात्रा की खुदकुशी, कोचिंग संचालक पर मामला दर्ज

suicide
Suicide of a student in Kota: राष्ट्रीय पात्रता सह-प्रवेश परीक्षा (नीट) की तैयारी कर रही छात्रा की कथित तौर पर जहर खाने से मौत के एक दिन बाद पुलिस ने कोचिंग संस्थान के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया है। 
 
अधिकारियों के अनुसार छात्रा के पिता ने यह आरोप लगाते हुए कि संस्थान उसे 'प्रताड़ित' कर रहा था, पुलिस में शिकायत दी। उत्तर प्रदेश के मऊ जिले की रहने वाली 16 वर्षीय प्रियम सिंह ने सोमवार को इस कोचिंग केन्द्र में कथित तौर पर कीटनाशक खा लिया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी।
 
उन्होंने बताया कि प्रियम के पिता सूर्यप्रकाश सिंह मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद शव लेने के लिए पहुंचे। उन्होंने अपनी बेटी पर पढ़ाई के लिए दबाव बढ़ाने को लेकर कोचिंग संस्थान को जिम्मेदार ठहराया और शिकायत दर्ज कराई।
 
डीएसपी धर्मवीर सिंह ने बताया कि शिकायत के आधार पर विज्ञान नगर स्थित कोचिंग संस्थान के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।
 
इस सवाल पर कि कुछ कथित व्हाट्सएप संदेश जो कि प्रेम संबंधों की ओर इशारा कर रहे हैं तो संदिग्ध आत्महत्या का कारण नहीं है, इस पर डीएसपी ने कहा कि पुलिस को ऐसे कोई संदेश नहीं मिले हैं और सभी पहलुओं की जांच की जा रही हैं।
 
शवगृह के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए सूर्यप्रकाश ने कहा कि संस्थान के शिक्षकों ने उनकी बेटी को 'परेशान' किया और 'यह कहकर दबाव डाला कि वह पढ़ाई में पीछे छूट रही है और फेल हो जाएगी।'
 
पुलिस के अनुसार, पिता ने यह भी आरोप लगाया कि कोटा में कोचिंग संस्थान के कर्मचारी होटल के कमरे तक उनका पीछा करते रहे और फोन पर उन्हें प्रशासन से संपर्क न करने की धमकी दी। उन्होंने बताया कि सूर्यप्रकाश ने उस फोन नंबर को जिला प्रशासन और पुलिस को दिया है, जिससे उन्हें धमकी मिली थी।
 
डीएसपी ने बताया कि प्रियम, कक्षा 12 की छात्रा थी और विज्ञान नगर में कोचिंग संस्थान में डेढ़ साल से नीट-यूजी की तैयारी कर रही थी। वह इसी जून में विज्ञान नगर के रोड नंबर एक पर स्थित एक फ्लैट में स्थानांतरित हुई थी।
 
कोटा शहर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) भगवत सिंह हिंगड़ ने कहा कि लड़की को कोचिंग संस्थान के बाहर उल्टी करते हुए देखा गया था जिसके बाद अन्य छात्र और स्टाफ उसे अस्पताल ले गया। लड़की की सोमवार शाम को इलाज के दौरान मौत हो गई थी।
 
एएसपी ने कहा कि लड़की के कमरे से कोई आत्महत्या पत्र बरामद नहीं हुआ है और उसके पिता के संस्थान पर लगाए गए आरोपों तथा उसके पास कीटनाशक कहां से आया इसकी जांच की जा रही है। डीएसपी ने बताया कि लड़की के शव को पोस्टमार्टम के बाद मंगलवार दोपहर परिजनों को सौंप दिया गया। (भाषा)
Edited by: Vrijendra Singh Jhala
ये भी पढ़ें
खुशखबर! बिहार मंत्रिमंडल ने दी 69692 शिक्षकों की भर्ती को मंजूरी