बुधवार, 24 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Ramdev IMA Allopathy
Written By निष्ठा पांडे
Last Modified: शनिवार, 29 मई 2021 (20:28 IST)

IMA VS रामदेव : योग गुरु ने फिर उड़ाया मजाक, बोले- जिनकी कोई इज्जत नहीं, वे कर रहे हैं 1000 करोड़ की मानहानि, ट्रीटमेंट आतंकवाद के खिलाफ है उनकी लड़ाई

IMA VS रामदेव : योग गुरु ने फिर उड़ाया मजाक, बोले- जिनकी कोई इज्जत नहीं, वे कर रहे हैं 1000 करोड़ की मानहानि, ट्रीटमेंट आतंकवाद के खिलाफ है उनकी लड़ाई - Ramdev IMA Allopathy
हरिद्वार। शुक्रवार को इंटरनेट मीडिया के एक लाइव प्रोग्राम में योग गुरु बाबा रामदेव ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के किए गए 1000 करोड़ की मानहानि के दावे का मखौल उड़ाते हुए कहा कि जिनकी कोई इज्जत नहीं, वे 1000 करोड़ की मानहानि का दावा कर रहे हैं।

योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि इस वक्त देश में धार्मिक, वैचारिक और सांस्कृतिक आतंकवाद तेजी से फैल रहा है। इसी में एक नए किस्म का आतंकवाद ट्रीटमेंट आतंकवाद भी पैदा हो गया है।

उनकी लड़ाई इनके खिलाफ हैं। एलोपैथिक का यह कारोबार करीब 2 लाख करोड़ का है, वे इसके खिलाफ लड़ रहे हैं। सरकार चाहे उनका साथ दे या न दे। भले ही सरकार उनका विरोध करें पर उनकी लड़ाई जारी रहेगी और वे इसमें सफल होंगे।

रामदेव ने यह भी कहा कि उनका किसी पैथी से कोई मुकाबला नहीं है और विरोध नहीं है। उन्होंने कहा कि आकस्मिक स्थितियों में वे एलोपैथी इलाज और चिकित्सा को जरूरी समझते हैं, मान्यता देते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि इलाज की केवल यही अवस्था है और यही विधि है। एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति को निशाना बना कहा कि आपके पास लाइफ सेविंग ड्रग्स और एडवांस सर्जरी है।

हम यह मानते हैं पर, आपके पास ये 2 चीज है तो हमारे पास 98 चीज हैं। दावा किया कि योग, आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा बिना सर्जरी और बिना दवा के स्वस्थ जीवन शैली देता है और 1000 से अधिक व्याधियों का इलाज करता है।

उन्होंने आरोप लगाया कि इस वक्त देश-दुनिया के विभिन्न अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए जिन-जिन भी दवाओं का इस्तेमाल उपयोग किया जा रहा है, उनमें से किसी भी एक दवा का कोरोना के इलाज प्रोटोकॉल के तहत क्लीनिकल ट्रायल अब तक नहीं हुआ है। उन्होंने सवाल उठाया कि फिर किस आधार पर इन दवाओं का इस्तेमाल कोरोना संक्रमित मरीजों पर किया जा रहा है।
ये भी पढ़ें
UP : कारीगर और श्रमिकों के लिए राहत भरी खबर, खादी ग्रामोद्योग को मिला 45 करोड़ का ऑर्डर