कांग्रेस का आरोप, श्रमिकों की बसों को लेकर घटिया राजनीति कर रही योगी सरकार

Last Updated: बुधवार, 20 मई 2020 (11:31 IST)
नई दिल्ली। कांग्रेस ने बुधवार को लगाया कि उत्तरप्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार श्रमिकों को उनके गंतव्यों तक भेजने के लिए उसकी ओर से मुहैया कराई जा रहीं बसों को लेकर घटिया राजनीति कर रही है। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यह भी कहा कि ये बसें बुधवार शाम 5 बजे तक राजस्थान से लगी उत्तरप्रदेश सीमा पर खड़ी रहेंगी और उत्तरप्रदेश सरकार को इन्हें जाने की अनुमति देनी चाहिए।
ALSO READ:
यात्रियों के इंतजार में खड़ी रही स्पेशल ट्रेन, 7 घंटे बाद रवाना
उन्होंने वीडियो लिंक के माध्यम से कहा कि यह घटिया राजनीति की चरम सीमा है। अजय सिंह बिष्ट सरकार (योगी आदित्यनाथ सरकार) गोल-गोल घुमा रही है। इस राजनीति का औचित्य क्या है? हम सरकार के इस रुख की कड़ी निंदा करते हैं।
सिंघवी के मुताबिक मई के अंत की चिलचिलाती गर्मी के बीच और पैर में छाले लेकर श्रमिक चल रहे हैं, लेकिन बसों को रोका जा रहा है और सस्ती राजनीति की जा रही है। प्रियंका गांधी ने खुद कहा है कि अगर उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री चाहें तो बसों पर भाजपा के अपने बैनर-झंडे लगा लें, लेकिन बसों को जाने की अनुमति दें। अभी समय है। हमारी बसें आज 4 बजे तक वहां रहेंगी। अगर अजय सिंह बिष्टजी को जनादेश और जनता की चिंता है तो तुरंत बसों को चलाने की अनुमति दीजिए।
गौरतलब है कि बसों को लेकर पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस और उत्तरप्रदेश सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप चल रहा है। दोनों तरफ से एक-दूसरे को कई पत्र लिखे गए हैं। उत्तरप्रदेश सरकार का कहना है कि कांग्रेस ने 1,000 से अधिक बसों का जो विवरण मुहैया कराया उनमें कुछ दोपहिया वाहन, एम्बुलेस और कार के नंबर भी हैं। इस पर कांग्रेस ने कहा कि उसकी ओर से मुहैया कराई गई सूची में उत्तरप्रदेश सरकार ने खुद 879 बसों के सही होने की पुष्टि की है और उसे अब इन बसों को चलाने की अनुमति प्रदान करनी चाहिए। (भाषा)



और भी पढ़ें :