68वें गणतंत्र दिवस की रिहर्सल आज, परेड में दिखेंगी 23 झांकियां

पुनः संशोधित सोमवार, 23 जनवरी 2017 (08:26 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। की सोमवार को फुल ड्रेस रिहर्सल होगी। रिहर्सल की वजह से गणतंत्र दिवस के दिन यानी गुरुवार को मेट्रो व रेल सेवा प्रभावित रहेगी। इस दिन सुबह 10.30 बजे से 12 बजे तक तिलक ब्रिज रेलवे स्टेशन पूरी तरह बंद रहेगा। इस दौरान वहां से गुजरने वाली ट्रेनों को उसके आगे और पीछे के स्टेशनों पर रोक दिया जाएगा। इस समय गुजरने वाली ईएमयू भी रद्द कर दी गई है। वहीं 23 और 26 जनवरी के दौरान प्रभावित होने वाली ट्रेनों में झेलम एक्सप्रेस, केरल एक्सप्रेस, काशी विश्वनाथ, सियालदह राजधानी, भुवनेश्वर राजधानी, कर्नाटक एक्सप्रेस, जनशताब्दी, मगध एक्सप्रेस व श्रीधाम एक्सप्रेस हैं। इन ट्रेनों को साढ़े दस बजे से लेकर 12 बजे के बीच रोक कर रखा जाएगा।
दिल्ली मेट्रो के कुछ स्टेशन भी 23 और 26 जनवरी को कुछ समय के लिए बंद रहेंगे। फुल ड्रेस रिहर्सल के दौरान रास्ते में पड़ने वाले मेट्रो स्टेशनों को सुरक्षा लिहाज से बंद किया जाता है। सोमवार को फुल ड्रेस रिहर्सल की वजह से पटेल चौक, केंद्रीय सचिवालय, उद्योग भवन, मंडी हाउस, प्रगति मैदान और आइटीओ मेट्रो स्टेशन प्रभावित रहेंगे। मेट्रो का कहना है कि सुरक्षा इंतजाम को देखते हुए कई बार इन प्रभावित मेट्रो स्टेशनों पर यात्री सुविधा रोक दी जाती है। वहीं मंडी हाउस और केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशनों पर इंटरचेंज की सुविधा बहाल रहेगी।
 
गणतंत्र दिवस के मद्देनजर सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने दिल्ली के सभी स्टेशनों पर पार्सल बुकिंग को 23 से 26 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया है। इस दौरान प्लेटफॉर्म और पार्सल गोदाम में भी पार्सल रखना पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। दिल्ली के विभिन्न स्टेशनों मसलन, नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, हजरत निजामुद्दीन, आनंद विहार, आदर्श नगर, दिल्ली कैंट और सराय रोहला स्टेशन पर पार्सल बुकिंग प्रतिबंधित की गई है। वहीं सुरक्षा के लिहाज से दिल्ली से गुजरने वाली ट्रेनों में भी पार्सल की बुकिंग पर रोक लगाई गई है। रेलवे ने पार्सल बुकिंग को लेकर साफ कहा है कि दिल्ली क्षेत्र से गुजरने वाली ट्रेनों में रास्ते में पड़ने वाले विभिन्न स्टेशनों से भी लोडिंग और अनलोडिंग नहीं की जाएगी।
 
परेड में होगा खास नजारा : इस साल गणतंत्र दिवस की झांकी में आपको लोकमान्य तिलक की 160वीं जयंती, कच्छ की कला और जीवनशैली, दिल्ली के आदर्श सरकारी स्कूल, स्किल इंडिया और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की थीम देखने को मिलेगी। इस साल होने वाली गणतंत्र दिवस की परेड में कुल 23 झाकियां शामिल होंगी जिसमें से 17 झाकियां विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की होंगी।
 
सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय, आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय, कौशल विकास मंत्रालय, आबकारी एवं सीमाशुल्क बोर्ड, वैज्ञानिक एवं औद्योगिक शोध परिषद और केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की झाकियों को भी राजपथ पर आयोजित होने वाली 68वें गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल किया जाएगा।
 
इस साल जिन राज्यों की झाकियों को गणतंत्र दिवस की परेड में मौका दिया जा रहा है उनमें गोवा, ओडिशा, दिल्ली, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, गुजरात, लक्षद्वीप, कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, तमिलनाडु, जम्मू-कश्मीर और असम शामिल हैं।
 
रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की झांकी 'कौशल विकास के जरिये बदलता भारत' के विचार पर आधारित होगी जबकि सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय की झांकी खादी और ग्रामोद्योग आयोग पर आधारित होगी।
 
अरुणाचल की झांकी में याक नृत्य, कर्नाटक की झांकी में लोक नृत्य, तमिलनाडु की झांकी में 'कराकट्टम' नृत्य, और त्रिपुरा की झांकी में वहां के आदिवासी नृत्य 'होजागिरी' की झलक पेश की जाएगी। करीब तीन साल बाद परेड का हिस्सा बन रही दिल्ली की झांकी में आदर्श सरकारी स्कूल की झलक देखने को मिलेगी। (एजेंसियां) 



और भी पढ़ें :