शुक्रवार, 1 मार्च 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. धर्म-दर्शन
  3. मंगल देव
  4. Sant Sakharam Maharaj Nursery Amalner
Written By
Last Updated : शनिवार, 21 जनवरी 2023 (14:53 IST)

Amalner : फूलों से खिलती है मंगल देवता की संत सखाराम महाराज नर्सरी

Amalner : फूलों से खिलती है मंगल देवता की संत सखाराम महाराज नर्सरी - Sant Sakharam Maharaj Nursery Amalner
अमलनेर- Shri Mangal Dev Grah Mandir Amalner: महाराष्ट्र के जलगांव के पास अमलनेर में स्थित प्राचीन मंगलदेव ग्रह मंदिर में नित्य नई गतिविधियों का संचालन होता रहता है। प्रकृति से जुड़ने वाली गतिविधियों में से एक संत सखाराम महाराज नर्सरी है। इस नर्सरी को देखना अद्भुत है। करीब 20 वर्षों से इसका रखरखाव किया जा रहा है।
 
मंगल ग्रह मंदिर की इस नर्सरी में विभिन्न रंगों के फूलों के पौधे लगाए गए हैं और नर्सरी हमेशा फूलों से भरी रहती है। इससे यहां आने वाले श्रद्धालुओं का मन हमेशा प्रसन्न रहता है। नर्सरी को देखकर सभी खुश हो जाते हैं और उन्हें शांति का अहसास होता है। अमलनेर स्थित श्री मंगल ग्रह मंदिर में प्रतिदिन हजारों श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। यहां नर्सरी की हरियाली देख भक्तों का मन भी प्रफुल्लित है।
 
श्री मंगलग्रह सेवा संस्था के अध्यक्ष डिगंबर महाले ने यहां की नर्सरी में तरह-तरह के पौधों की कटिंग बनाई है। इसमें गुलाब, कन्हेर, जाखंड, मोगरा, चमेली जुई, शेवंती, टगर, चांदनी, बोगनविलिया, चाफा, वाटर लिली इसके साथ ही बरगद, उम्बर, पीपल, झाड़ी, टोपिआका, नींबू, जामुन, नारियल, आम, गुलमोहर सहित कई शामिल हैं।
 
शो प्लांट की बात करते तो स्नेक प्लांट, गंध तुलसी, कंचन, बावा जैसे विभिन्न प्रकार के पौधों की कलम भी तैयार की जाती है। यहां की नर्सरी में गार्डन कटिंग से ग्राफ्ट तैयार किए जाते हैं। इन कलमों को खाद के साथ मिश्रित मिट्टी में छोटे थैलों में लगाया जाता है। मंदिर की नर्सरी में वर्तमान में पंद्रह हजार पौधों की खेती की जा चुकी है।