अनलॉक हुए त्योहार : मध्यप्रदेश में दुर्गा पूजा और दशहरे पर रावण दहन के लिए नई गाइडलाइन

दुर्गा प्रतिमाओं पर नहीं रहेगा 6 फीट ऊंचाई का प्रतिबंध,रावण दहन की सशर्त अनुमति

Author विकास सिंह| Last Updated: शनिवार, 3 अक्टूबर 2020 (22:14 IST)
भोपाल। में कोरोनाकाल में सरकार ने दशहरे पर रामलीला और रावण दहन करने के आयोजन करने की अनुमति दे दी है। इसके साथ ही सरकार ने दुर्गा उत्सव को लेकर पहले से घोषित गाइडलाइन में बदलाव कर दिया है।

सरकार के नए फैसले के बाद अब दुर्गा उत्सव में 6 फीट से ऊंची दुर्गा प्रतिमाएं बैठाई जा सकेगी, इसके साथ ही दुर्गा उत्सव के लिए अब पंडालों का अधिकतम आकार 30 X 45 फीट होगा। वहीं दुर्गा पूजा के दौरान अब भी
चल समारोह की अनुमति नहीं होगी तथा आयोजन समिति के अधिकतम 10 व्यक्ति दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन कर सकेंगे। दुर्गा उत्सव पर पहले की तरह अब भी गरबा करने की अनुमति नहीं होगी।


सरकार की के मुताबिक दशहरा उत्सव पर रामलीला एवं रावण दहन किया जा सकेगा, परंतु सभी आयोजनों में मास्क लगाना तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना पूरी तरह अनिवार्य रहेगा। ऐसी झांकियां नहीं बनाई जा सकेंगी, जिनमें किसी भी तरह से सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन हो।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए दुर्गा उत्सव और दशहरा को लेकर गाइडलाइन में बदलाव को मंजूरी दे दी।


त्यौहारों एवं सर्दियों के लिए करें "एडवांस प्लानिंग"- बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि आगामी त्योहारों एवं सर्दी के समय कोरोना संक्रमण अधिक फैल सकता है, अत: इसके लिए "एडवांस प्लानिंग" कर लें। मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग आदि सावधानियों का पूरा पालन सुनिश्चित किए जाने के साथ ही प्रदेश की स्वास्थ्य अधोसंरचना एवं स्वास्थ्य सुविधाओं का भी विस्तार किया जाए।

एक्टिव मरीजों की संख्या 20 हजार से नीचे- प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 20 हजार से नीचे 19807 हो गई है। इसका कारण नए प्रकरणों की संख्या के अनुपात में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। प्रदेश में गत दिवस 1811 नए प्रकरण मिले हैं, जबकि 2101 स्वस्थ होकर घर गए हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या में 01 दिन में 317 की कमी आई है।


रिकवरी रेट 83.4 प्रतिशत - प्रदेश की रिकवरी रेट निरंतर बढ़ रही है। अब यह 83.4 प्रतिशत हो गई है। वहीं प्रदेश की मृत्यु दर निरंतर कम हो रही है, अब यह 1.79 प्रतिशत हो गई है। पॉजिटिविटी रेट 6.32 तथा टैस्ट प्रति दस लाख 26548 हैं।



और भी पढ़ें :