टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने 7वां श‍तक जड़कर ब्रैडमैन और तेंदुलकर को भी पीछे छोड़ा

Last Updated: शुक्रवार, 11 अक्टूबर 2019 (23:21 IST)
पुणे। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शुक्रवार को यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में कैरियर की सर्वश्रेष्ठ 254 रन की नाबाद पारी खेलकर टेस्ट क्रिकेट में महान बल्लेबाज सर डान ब्रैडमैन और सचिन तेंदुलकर का रिकार्ड तोड़ा।

कोहली ने 7वां दोहरा शतक लगाकर नया भारतीय रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने तेंदुलकर और वीरेन्द्र सहवाग के 6-6 दोहरे शतक के रिकॉर्ड
को पीछे छोड़ा। इस सूची में ऑस्ट्रेलिया के ब्रैडमैन शीर्ष पर हैं, जिन्होंने 12 दोहरे शतक लगाए हैं।

कोहली के नाम अब टेस्ट क्रिकेट में 26 और कुल 69 अंतरराष्ट्रीय शतक (वनडे में 43 शतक) हैं। उन्होंने अपनी पारी के दौरान ब्रैडमैन के 6,996 टेस्ट रन को पीछे छोड़ दिया।

30 साल के कोहली के नाम अब टेस्ट में 7,000 से ज्यादा रन हो गए हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ 2011 में करियर का आगाज करने वाला यह बल्लेबाज अब टेस्ट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में शीर्ष 50 में शामिल हो गया है। इस तालिका में तेंदुलकर (15,921 रन) शीर्ष पर हैं।

उन्होंने इस दौरान श्रीलंका के सनथ जयसूर्या, ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ और इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज लेन हटन (6,971) को टेस्ट करियर के रनों के मामले में पीछे छोड़ा।

उन्होंने कुछ समय के लिए ब्रैडमेन का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा 150 प्लस स्कोर करने का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया था। इसके बाद हालांकि उन्होंने दोहरा शतक जड़ डाला। ब्रैडमेन ने अपने कैरियर में 8 बार 150 से अधिक रन बनाए थे लेकिन उनके नाम 12 दोहरे शतक हैं।

कोहली ने टेस्ट कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा शतक जमाने के ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग के रिकॉर्ड की भी बराबरी की।
कोहली और पोंटिग के नाम अब टेस्ट कप्तान के तौर पर 19 शतक हैं। इस सूची में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ (25) पहले
पायदान पर है।

कोहली का टेस्ट क्रिकेट में यह 26वां शतक है जबकि इस साल में यह पहला टेस्ट शतक है। भारतीय कप्तान ने 239 एकदिवसीय में 11,520 रन बनाए हैं।

 

और भी पढ़ें :