रवि शास्त्री का बड़ा खुलासा, जानिए कब लेंगे संन्यास MS Dhoni

Last Updated: गुरुवार, 9 जनवरी 2020 (18:32 IST)
नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विकेटकीपर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के लेने का मामला टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने नए साल में अपनी प्रतिक्रिया देकर फिर से गरमा दिया है। उन्होंने कहा कि एमएस धोनी जल्दी ही एकदिवसीय क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान कर सकते हैं।
न्यूज-18 इंडिया शास्‍त्री ने एक बातचीत में संकेत दिया है कि धोनी जल्द ही अपने वनडे करियर को अलविदा कह सकते हैं। हालांकि वह उसके बाद भी टी-20 क्रिकेट खेलना जारी रख सकते हैं।
38 बरस के धोनी टेस्ट क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले चुके हैं। शास्‍त्री की इस बात पर यदि यकीन किया जाए तो धोनी ऑस्ट्रेलिया में इसी साल होने वाले टी-20 विश्वकप में भी खेलते नजर आ सकते हैं।
भारतीय कोच ने कहा कि धोनी का टी-20 करियर अभी जिंदा है। वह इंडियन प्रीमियर लीग में खेलेंगे। धोनी के बारे में मैं एक बात जानता हूं कि वह खुद को टीम पर कभी नहीं थोपते हैं, अगर उन्हें लगता है कि वह खेलना जारी नहीं रख सकते हैं तो टेस्ट क्रिकेट की तरह ही कह देंगे कि मैं काफी क्रिकेट खेल चुका हूं लेकिन अगर वह आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करते हैं तो वह इस प्रारूप में आगे भी खेलना जारी रख सकते हैं।
शास्‍त्री के इस बयान पर समझा जा सकता है कि धोनी इस साल अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्वकप में भारतीय टीम का हिस्सा बन सकते हैं। धोनी ने जुलाई 2019 में एकदिवसीय विश्वकप के सेमीफाइनल के बाद से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला है, लेकिन उन्होंने संन्यास को लेकर सीधे तौर पर कोई बात नहीं की है।

धोनी ने टीम इंडिया को आईसीसी के तीन बड़े खिताब वर्ल्ड कप, आईसीसी वर्ल्ड कप और चैम्पियंस ट्रॉफी में खिताब दिलाए हैं। 3 मेजर खिताब दिलाने वाले वे भारतीय क्रिकेट टीम के इकलौते कप्तान हैं।
धोनी ने 350 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों की 297 पारियों में 10 हजार 773 रन ठोंके, जिसमें 10 शतक और 73 अर्धशतक शामिल हैं। वनडे में उनका उच्चतम स्कोर 183 रन रहा है।

धोनी को उनके अनुभव के कारण इस साल अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित टी20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का हिस्सा बनाए जाने की चर्चा है और यकीनन विराट कोहली उन्हें यह मौका प्रदान करेंगे। धोनी ने 98 टी20 मैचों में 1617 रन बनाए, जिसमें 2 अर्धशतक भी हैं।

इंडियन प्रीमियर लीग में तो धोनी का सिक्का चला है और वे चेन्नई सुपरकिंग्स को 3 मर्तबा चैम्पियन बनवा चुके हैं। एमएस ने आईपीएल के 190 मैचों की 170 पारियों में 137.85 के स्ट्राइक रेट से 4432 रन बनाए हैं, जिसमें 23 अर्धशतक शामिल हैं। ये तमाम आंकड़े इस बात के गवाह है कि धोनी टीम इंडिया के लिए कितने कीमती हैं।


और भी पढ़ें :