विश्व कप के लिए कपिल देव की नसीहत, भारतीय खिलाड़ी मध्यक्रम की बल्लेबाजी के पेंच में न फंसें

Last Updated: बुधवार, 3 अप्रैल 2019 (22:54 IST)
बेंगलुरु। विश्व कप विजेता कप्तान कपिलदेव ने कहा है कि यदि भारत को इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप को जीतना है तो उसे मध्यक्रम बल्लेबाजी के पेंच में नहीं फंसना चाहिए।
भारतीय टीम इस समय मध्यक्रम खास तौर पर 4 नंबर को लेकर उलझन में फंसी हुई है। भारत के पास मौजूदा समय में 4 नंबर पर खेलने के लिए कई खिलाड़ी हैं। आईपीएल के हर मुकाबले के बाद पूर्व खिलाड़ी 4 नंबर के लिए विजय शंकर, अजिंक्य रहाणे, अंबाटी रायुडू और संजू सैमसन जैसे नामों की सलाह दे रहे हैं। भारतीय टीम ने भी इस स्थान पर पिछले कुछ समय में कई बल्लेबाजों को परखा हैं और हनुमा विहारी तथा श्रेयस अय्यर भी इस स्थान के लिए होड़ में शामिल हैं।
कपिल ने 4 नंबर को लेकर यहां एक प्रचार कार्यक्रम में 1983 की विश्व कप विजेता टीम के साथी खिलाड़ियों कृष्णामाचारी श्रीकांत, रोजर बिन्नी और सैयद किरमानी के साथ कहा कि आधुनिक क्रिकेट के युग में कौन सा बल्लेबाज किस नंबर पर बल्लेबाजी करेगा, मैं इसमें विश्वास नहीं रखता और किसी को इसको लेकर भ्रमित भी नहीं होना चाहिए। खिलाड़ियों को मुकाबला जीतने की मंशा के साथ खेलना चाहिए न कि किस नंबर पर खेला जाए।
कपिल ने कहा कि 4 नंबर पर बल्लेबाजी के लिए बहुत चर्चा हुई है लेकिन इस नंबर पर बल्लेबाज का चयन परिस्थितियों के अनुसार होना चाहिए। इन दिनों बल्लेबाजी क्रम के अनुसार नहीं बल्कि जरूरत के हिसाब से होनी चाहिए। महेंद्र सिंह धोनी या अन्य कोई भी खिलाड़ी 1 से 7 तक किसी भी नंबर बल्लेबाजी कर सकता है। सब इतना अच्छा खेलते हैं कि वे उस स्थान पर खेल सकते हैं।

कपिल ने कहा कि को कई सलाहकारों का समर्थन प्राप्त है लेकिन वे शायद अंतिम एकदश में स्थान प्राप्त न कर सकें। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान श्रीकांत ने हालांकि उम्मीद जताई कि अपनी मैच जिताऊ काबिलियत से दोनों विकेटकीपर बल्लेबाज पंत और धोनी भारत को अच्छे परिणाम दिला सकते हैं।
श्रीकांत ने कहा कि पंत ने ओवल 2018 टेस्ट मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ हारे हुए मुकाबले को लगभग जिता दिया था। हमें उसे केवल आत्मविश्वास देने की जरूरत है। जब मैं खेलता था तब कपिल ने भी मुझे खेलने की आजादी दी थी और इसी तरह पंत को भी दी जानी चाहिए। वह अपने दम पर कम से कम 3 मुकाबले जितवा सकता है।

कपिल ने हालांकि कहा कि पंत को अभी और बेहतर प्रदर्शन करने की जरूरत है कि वह भरोसे लायक है या नहीं, खासतौर पर तब जब धोनी ने इस भूमिका के लिए इतने ऊंचे मापदंड स्थापित किए हों। पंत के पास केवल कला और क्षमता है। पंत को समय के साथ और अधिक प्रदर्शन करने की जरूरत है और यह 1 या 2 दिन में नहीं होगा। (वार्ता)

 

और भी पढ़ें :